चांद-सितारे वाले हरे झंडे को बैन करने की याचिका पर SC ने केंद्र से मांगा जवाब

UP शिया वक़्फ़ बोर्ड के चेयरमैन वसीम रिज़वी ने याचिका में कहा है कि, झंडे का इस्लाम से संबंध नहीं. पाकिस्तान की पार्टी मुस्लिम लीग का झंडा है. मुस्लिम इलाकों में इसे फहराना गलतफहमी और तनाव की वजह बनता है.
syed waseem rizvi, चांद-सितारे वाले हरे झंडे को बैन करने की याचिका पर SC ने केंद्र से मांगा जवाब

नई दिल्ली: सुप्रीम कोर्ट ने उत्तर प्रदेश शिया वक्फ बोर्ड के चेयरमैन वसीम रिज़वी की याचिका पर जवाब दाखिल करने के लिए केंद्र सरकार को दो हफ्ते का समय दिया है. इस याचिका में देशभर की इमारतों पर इस्लाम के नाम लहराए जा रहे चांद-सितारे वाले हरे रंग के झंडे फहराने पर रोक लगाने की मांग की गई है.

UP शिया वक़्फ़ बोर्ड के चेयरमैन वसीम रिज़वी ने याचिका में कहा है कि, झंडे का इस्लाम से संबंध नहीं. पाकिस्तान की पार्टी मुस्लिम लीग का झंडा है. मुस्लिम इलाकों में इसे फहराना गलतफहमी और तनाव की वजह बनता है.

याचिका में कहा है कि धर्म के नाम पर चांद-सितारे वाले हरे झंडे लहराने पर रोक लगाया जाना चाहिए. याचिकाकर्ता वसीम रिजवी ने सुप्रीम कोर्ट से मांग की है कि ऐसे संस्थानों, व्यक्तियों और धार्मिक संस्थाओं के खिलाफ करवाई की जाए जो पाकिस्तान मुस्लिम लीग वाले झंडे लहरा रहे हैं, क्योंकि ये इस्लामिक झंडे नही हैं. चांद-सितारे वाले हरे झंडे पर बैन की मांग पर SC ने केंद्र को 2 हफ्ते में जवाब देने कहा.

ये भी पढ़ें-

9 महीने में हो जाएगा आडवाणी-जोशी पर फैसला, अयोध्या विवादित ढांचा विध्वंस मामला

पानी बचाने के लिए अनोखा आदेश, यूपी विधानसभा में अफसरों-अतिथियों को मिलेगा आधा गिलास पानी

Related Posts