चुनाव से ऐन पहले मोदी सरकार को झटका, राफेल की फिर होगी सुनवाई

राफेल पर विवाद ठंडा नहीं पड़ रहा है. लोकसभा चुनाव में तो राफेल का शोर और ज़ोर से मच रहा है. अब सुप्रीम कोर्ट के एक फैसले ने राफेल पर केंद्र को झटका भी दे दिया है.

लोकसभा चुनाव से ऐन पहले केंद्र सकार को सुप्रीम कोर्ट ने झटका दिया है. बहुचर्चित राफेल मामले में सुप्रीम कोर्ट का अहम फैसला सामने आया है. राफेल डील मामले में याचिकाकर्ता ने गलत ढंग से गोपनीय दस्तावेज़ों की जो फोटोकॉपी हासिल की थी उस पर दाखिल पुनर्विचार याचिका पर अब अदालत सुनवाई करेगी. सरकार चाहती थी कि इन दस्तावेज़ों के आधार पर सुनवाई ना हो लेकिन अब सुनवाई में इन दस्तावेज़ों को शामिल किया जाएगा.
चीफ जस्टिस रंजन गोगोई की अध्यक्षता वाली तीन सदस्यीय बेंच ने एकमत से कहा कि नए दस्तावेज़ डोमेन में आए हैं, उन आधारों पर मामले में पुनर्विचार याचिका पर सुनवाई होगी. बेंच में सीजेआई के अलावा जस्टिस एस के कौल और जस्टिस के एम जोसेफ शामिल थे. अभी सुनवाई की तारीख होना बाकी है.

फैसले के बाद याचिकाकर्ताओं में से एक वरिष्ठ वकील प्रशांत भूषण ने ट्वीट करके सबको फैसले की जानकारी साझा की.

राफेल को चुनावी मुद्दा बनाने की कोशिश में जुटी कांग्रेस भी तुरंत सक्रिय हो गई और  केंद्र सरकार पर हमला शुरू हो गया.