JU राष्ट्रविरोधियों-वामपंथियों का अड्डा, बालाकोट जैसी ‘सर्जिकल स्ट्राइक’ कर करेंगे खात्मा- घोष

उन्होंने कहा, 'जादवपुर यूनिवर्सिटी कैंपस राष्ट्रविरोधी और कम्यूनिस्ट गतिविधियों का केंद्र बन चुका है. इस तरह की घटना पहली बार नहीं हुई है.

कोलकाता: प. बंगाल के जादवपुर यूनिवर्सिटी में बीती शाम केंद्रीय मंत्री बाबुल सुप्रियो के साथ वामपंथी छात्रों ने बदसलूकी की थी. इस दौरान कैंपस के भीतर छात्रों ने बवाल भी मचाया था. इस मामले से बीजेपी गुस्से में है. बीजेपी ने कहा कि जेयू का कैंपस राष्ट्रविरोधियों और वामपंथियों का अड्डा बन गया है और उनके कैडर इस अड्डे को तहस-नहस करने के लिए बालाकोट जैसी ‘सर्जिकल स्ट्राइक’ करेंगे.

दिलीप घोष ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में राज्य की तृणमूल कांग्रेस सरकार पर आरोप लगाया कि वह जादवपुर यूनिवर्सिटी में इतनी बड़ी घटना होने के बावजूद हाथ पर हाथ धरे इसलिए बैठी रही क्योंकि उसे कैंपस में बाबुल सुप्रियो की हत्या का इंतजार था. उन्होंने कहा कि वह केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह को पूरी घटना विस्तार से लिखकर बताएंगे.

उन्होंने कहा, ‘जादवपुर यूनिवर्सिटी कैंपस राष्ट्रविरोधी और कम्यूनिस्ट गतिविधियों का केंद्र बन चुका है. इस तरह की घटना पहली बार नहीं हुई है. जिस तरह हमारे सुरक्षा बलों ने पाकिस्तान में आंतकी अड्डों को तबाह किया था, हमारे कैडर भी उसी तरह की सर्जिकल स्ट्राइक कर जेयू कैंपस में इन राष्ट्रविरोधी अड्डों को तहस-नहस कर देंगे.’

बाबुल सुप्रियो पर हुए हमले की खबर जैसे ही राज्य के गवर्नर जगदीप धनकड़ को मिली वो तुरंत कैंपस के अंदर पहुंचे. घोष ने राज्यपाल के इस कदम का समर्थन करते हुए कहा, ‘राज्य सरकार हाथ पर हाथ धरे बैठे रही और सुप्रियो की हत्या का इंतजार करती रही.’ उन्होंने जादवपुर यूनिवर्सिटी के वाइस चांसलर सुरंजन दास के तत्काल प्रभाव से इस्तीफे की मांग की क्योंकि वह कैंपस के अंदर बिगड़े हालात पर नियंत्रण पाने में असफल रहे.