सुषमा स्वराज के इन पांच वीडियो को देखकर पाकिस्तान के सीने पर लोट गए थे सांप

Sushma swaraj ने साल 2017 में संयुक्त राष्ट्र महासभा को संबोधित करते हुए कहा था कि 'पाकिस्तान ऐसा देश है जिसे आतंकवाद फैलाने के साथ-साथ अपने किए को नकारने में भी महारथ हासिल है.'

नई दिल्ली: बीजेपी की वरिष्ठ नेता सुषमा स्वराज का मंगलवार देर रात निधन हो गया. सुषमा स्वराज अपनी हाज़िरजवाबी और वाकपटुता की वजह से जानी जाती थीं.

सुषमा स्वराज को याद करें और उनके भाषण की चर्चा न हो ये कैसे हो सकता है. करगिल युद्ध के बाद सुषमा स्वराज ने पाकिस्तान टीवी को एक इंटरव्यू दिया था.

पाक की धरती पर एक न्यूज चैनल के साथ इंटरव्यू में पाकिस्तानी हुक्मरानों और उनके रवैये को लेकर मुंहतोड़ जवाब देती सुषमा स्वराज का वो इंटरव्यू आज भी याद किया जाता है.

सुषमा स्वराज ने खुद इस विडियो को अपने ट्विटर पर भी 19 अक्टूबर 2013 को शेयर किया था. करगिल युद्ध के बाद 8 मार्च 2002 को पाकिस्तान में वहां के एक टीवी चैनल को दिए इंटरव्यू में सुषमा ने आतंकवाद, करगिल युद्ध और सीमा पर सीजफायर उल्लंघन सहित कई मुद्दों को लेकर वहां के हुक्मरानों को मुंहतोड़ जवाब दिया.

2015, UN में भाषण

साल 2015 में विदेश मंत्री की हैसियत से न्यूयॉर्क में संयुक्त राष्ट्र की 70वीं महासभा के अधिवेशन को संबोधित करते हुए सुषमा स्वराज ने जब पाकिस्तान को लताड़ा लगाई तो पूरी दुनिया का ध्यान उन्हीं पर केंद्रित हो गया था. अपने भाषण में सुषमा स्वराज ने पाकिस्तान को खुलेआम आतंकवाद की फैक्ट्री कहकर संबोधित किया था.

उनके इस भाषण की पूरे विश्व में चर्चा हुई थी. सुषमा ने अपने भाषण में कहा था कि “पाक जो खुद को आतंकवाद से पीड़ित बताता है दरअसल झूठ बोल रहा है. जब तक सीमापार से आतंक की खेती बंद नहीं होगी भारत पाकिस्तान के बीच बातचीत नहीं हो सकती. पाकिस्तान आतंकवाद की फैक्ट्री बन गया है, भारत ने उसके 2-2 आतंकवादी जिंदा पकड़े हैं. भारत हर विवाद का हल वार्ता के जरिए चाहता है किंतु वार्ता और आतंकवाद साथ-साथ नहीं चल सकते.”

2017, UN में भाषण
पाकिस्तान के जम्मू-कश्मीर को पाने के मंसूबों पर उसकी क्साल लगाते हुए उन्होंने कहा “सीमा पार से आतंकी आया है, लिखित में हमारे पास उसका सबूत है। मैं एक चीज यहां बता दूं अगर पाकिस्तान ये समझता है कि इस तरह की हरकतें करके या इस तरह के भड़काऊ बयान देकर वो भारत को कोई हिस्सा हमसे छीन सकता है। तो मैं पूरी दृढ़ता और स्पष्टा से यहां ये कह देना चाहती हूं कि आपका ये मंसूबा कभी कामयाब नहीं होगा। कश्मीर भारत का अभिन्न हिस्सा है और अभिन्न हिस्सा रहेगा। इसीलिए ये ख्वाब देखना छोड़ दें।”

2018, UN में भाषण

संयुक्त राष्ट्र महासभा (UNGA) के 73वें सत्र में 29 सितंबर 2018 को बोलते हुए विदेश मंत्री सुषमा स्वराज (Sushma Swaraj) ने पाकिस्तान को जबरदस्त लताड़ लगाई थी. सुषमा स्वराज ने अपने भाषण में पाकिस्तान पर भारत में आतंकवाद फैलाने का आरोप लगाते हुए कहा कि न्यूयॉर्क में 9/11 की घटना और मुंबई में 26/11 की घटना ने शांति की उम्मीदों को बर्बाद कर दिया है.

उन्होंने कहा कि भारत इसका शिकार हो रहा है और भारत में आतंकवाद की चुनौती हमारे पड़ोसी देश के अलावा किसी और से नहीं आ रही है. पाकिस्तान ऐसा देश है जिसे आतंकवाद फैलाने के साथ-साथ अपने किए को नकारने में भी महारथ हासिल है.

सुषमा स्वराज ने जलवायु परिवर्तन और आतंकवाद को दुनिया के सामने खड़ी सबसे बड़ी चुनौतियां बताया. पाकिस्तान द्वारा बातचीत के ऑफर पर सुषमा ने कहा कि भारत हमेशा बातचीत से मुद्दों को सुलझाने का पैरोकार रहा है, लेकिन पाकिस्तान हमेशा धोखा देता है.

उन्होंने कहा, हम मानते हैं कि बातचीत से जटिल से जटिल मुद्दे सुलझाए जा सकते हैं, पाक के साथ वार्ताओं के दौर चले हैं, लेकिन हर बार पाकिस्तान की हरकतों के चलते बातचीत रुकी.

साल 2019, SCO समिट

सुषमा स्वराज ने 22 मई 2019 को किरगिस्तान की राजधानी बिश्केक में शंघाई सहयोग संगठन (एससीओ) को संबोधित करते हुए एक बार फिर से आतंकवाद के ख़िलाफ़ भारत की लड़ाई की प्रतिबद्धता दोहराई है. सुषमा स्वराज ने विदेश मंत्रियों की बैठक को संबोधित करते हुए कहा कि भारत समग्र, सहयोगात्मक एवं स्थाई सुरक्षा के लिए एससीओ संरचना में सहयोग लगातार मजबूत करने को लेकर प्रतिबद्ध है.

स्वराज ने कहा, ‘हमारी संवेदनाएं हाल ही में भीषण आतंकवादी कृत्य के गवाह बने श्रीलंका के हमारे भाइयों एवं बहनों के साथ हैं. पुलवामा हमले से मिले हमारे जख्म अभी हरे ही थे और तभी पड़ोस से मिली भयावह खबर ने आतंकवाद के खिलाफ दृढ़ता के लड़ने के लिए हमें और अधिक प्रतिबद्ध बना दिया.’

सुषमा स्वराज दरअसल श्रीलंका में सिलसिलेवार बम विस्फोट पर बोल रही थीं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *