शाहजहांपुर केस: पीड़ित छात्रा के बयान दर्ज कराते ही चिन्मयानंद हुए बीमार, गिरफ्तारी की आशंका

देर शाम तबीयत खराब होने की शिकायत करने के बाद चिकित्सकों के एक दल ने चिन्मयानंद की मेडिकल जांच की है.

शाहजहांपुर में कथित तौर पर छात्रा का यौन शोषण मामले में आरोपित पूर्व केंद्रीय मंत्री चिन्मयानंद की अचानक तबियत बिगड़ने की खबर आ रही है. सोमवार शाम चिन्मयानंद को स्वास्थ्य संबंधित शिकायत होने के बाद उनके घर पर ही चिकित्सकीय निगरानी में रखा गया है.

देर शाम तबीयत खराब होने की शिकायत करने के बाद चिकित्सकों के एक दल ने चिन्मयानंद की मेडिकल जांच की है. छात्रा का यौन शोषण करने के पूर्व केंद्रीय मंत्री स्वामी चिन्मयानंद पर कानून का शिकंजा भी कसने लगा है. रेप का आरोप लगाने वाली लॉ छात्रा ने सोमवार को मजिस्ट्रेट के सामने धारा 164 के तहत बयान दर्ज करा दिया है.

शाहजहांपुर रेप कांड में गठित एसआईटी ने अब तक की सबसे बड़ी कार्रवाई की है. पूर्व केंद्रीय गृह राज्‍यमंत्री स्वामी चिन्मयानंद के आवास ‘दिव्य धाम’ को सीज कर दिया गया है. चिन्‍मयानंद के सोने को केवल एक कमरा छोड़ा गया है. एसआईटी ने यह कार्रवाई शुक्रवार तड़के 4 बजे की. SIT जांच के मद्देनजर कॉलेज को तीन दिन तक के लिए बंद रखने की बात सामने आ रही है.

एसआईटी ने गुरुवार को चिन्‍मयानंद से पूछताछ की थी. एसआईटी ने चिन्‍मयानंद से छात्रा के यौन शोषण के आरोपों, मालिश कराते हुए वीडियो और 5 करोड़ रुपये रंगदारी मांगे जाने के बारे में सवाल पूछे. लॉ कॉलेज के प्रिंसिपल संजय कुमार बर्नवाल और सेक्रेट्री अवनीश मिश्रा से भी पूछताछ हो चुकी है.

बुधवार को पीड़िता के कमरे की भी तलाशी ली गई. तलाशी के दौरान क्या कुछ मिला, एसआईटी ने फिलहाल इसका खुलासा नहीं किया है. हां, यह जानकारी जरूर सामने आ रही है कि कुछ आपत्तिजनक चीजें कमरे में मिली हैं. चूंकि कमरा लड़की ने बंद किया था, ऐसे में कमरे से बरामद आपत्तिजनक चीजों के बारे में भी पीड़िता को ही जबाब देना है.

24 अगस्त को छात्रा ने फेसबुक पर वीडियो वायरल कर स्वामी चिन्मयानंद पर गंभीर आरोप लगाए थे. दुष्कर्म का आरोप लगाने वाली छात्रा अपनी पीड़ा सोशल मीडिया पर डालने के साथ ही शाहजहांपुर से गायब हो गई. इस मामले का सुप्रीम कोर्ट ने स्वत: संज्ञान लिया. सुप्रीम कोर्ट के निर्देश पर उत्तर प्रदेश पुलिस की एसआईटी अब मामले की जांच कर रही है.