टेबलटॉप एयरपोर्ट तो नहीं कोझिकोड प्लेन क्रैश की वज़ह? जानें क्यों यहां ख़तरनाक है लैंडिंग

एयरपोर्ट एक पहाड़ी पर है और कई इन्टनेशनल एयरलाइंस ने बोइंग 777 और एयरबस A330 जेट्स जैसे बड़े विमानों को सिक्योरिटी के चलते कोझिकोड एयरपोर्ट (Kozhikode Airport) से उड़ाना बंद कर दिया था.
Tabletop airport is cause of Kozhikode plane crash, टेबलटॉप एयरपोर्ट तो नहीं कोझिकोड प्लेन क्रैश की वज़ह? जानें क्यों यहां ख़तरनाक है लैंडिंग

कोझिकोड एयरपोर्ट (Kozhikode Airport) पर हुए विमान हादसे में 19 लोगों की मौत हो चुकी है, वहीं कई घायल है. फ्लाइट में करीब 190 लोग थे, रनवे पर विमान लैडिंग के दौरान फिसलकर दो हिस्सों में टूट गया था. हादसे के बाद मामले की दो टीमें जांच करेंगी. इन सबके बीच शीर्ष विशेषज्ञ ने दावा किया है कि उन्होंने टेबलटॉप रनवे पर हादसे की आशंका सालों पहले जताई थी.

देखिये #अड़ी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर शाम 6 बजे

फ्लाइट ने उतरने की दो कोशिश कीं

फ्लांइग रडार के मुताबिक बोइंग 737 ने रनवे 10 पर उतरने के दो प्रयास किए. फ्लाइट रडार 24 वेबसाइट के एक प्लेबैक के अनुसार विमान ने उतरने से पहले कई बार हवाई अड्डे का चक्कर लगाया था. DGCA ने अपने बयान में कहा है कि विमान लैंडिंग के बाद रनवे के आखिर तक फिसलता चला गया और घाटी में गिरकर दो टुकडों में टूट गया. कोझिकोड हवाई अड्डे पर एक टेबलटॉप रनवे है जो कि एक पठार या पहाड़ी के टॉप पर है. रनवे के दोनों छोर पर खड़ी चट्टान और खाई हैं.

इन्टरनेशनल एयरलाइंस ने बंद की उड़ानें

एयरपोर्ट एक पहाड़ी पर है और कई इन्टनेशनल एयरलाइंस ने बोइंग 777 और एयरबस A330 जेट्स जैसे बड़े विमानों को सिक्योरिटी के चलते कोझिकोड से उड़ाना बंद कर दिया था.

केरल के 4 हवाई अड्डों में सबसे छोड़ा रनवे

एयर सेफ्टी एक्सपर्ट कैप्टन मोहन रंगनानथ ने कहा कि उन्होंने लगभग 9 साल पहले एक रिपोर्ट में विस्तार से बताया था कि कोझिकोड हवाई अड्डा लैंडिंग के लिए सुरक्षित नहीं है. केरल के चार हवाई अड्डों में से कोझिकोड हवाई अड्डे पर सबसे छोटा रनवे है. पिछले दिनों लगातार बारिश से रनवे को गंभीर नुकसान पहुंचा है.

रनवे के नजदीक डाउनस्लोप हैं

कैप्टन रंगनाथन ने कहा कि रनवे के पास डाउनस्लोप है और कोई सेफ्टी एरिया नहीं है. उन्हें इसके बारे में 9 साल पहले चेतावनी जारी की गई थी, सबूत पेश किए गए, लेकिन उन्होंने हवाई अड्डे का संचालन जारी रखा. उन्होंने ये भी कहा कि अगर हादसे में कोई मरता है तो वो हत्या या अपराध है. उन्होंने कहा कि”टरमैक के दोनों किनारों पर 200 फीट गहरे गॉर्ज हैं. यह बहुत नीचे की ओर हैं.

देखिये फिक्र आपकी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 9 बजे

Related Posts