कांग्रेस में इस्‍तीफों का दौर शुरू, अनिल शास्‍त्री बोले- मोदी को टारगेट करना उल्‍टा पड़ा

पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्‍त्री के बेटे अनिल शास्‍त्री ने पार्टी की शर्मनाक हार की वजह बताई है.

नई दिल्‍ली: लोकसभा चुनाव में कांग्रेस की करारी हार पर पार्टी के भीतर से आवाजें उठने लगी हैं. कर्नाटक में प्रचार समिति के अध्‍यक्ष एचके पाटिल ने पार्टी अध्‍यक्ष राहुल गांधी को चिट्ठी लिख ‘आत्‍ममंथन’ के लिए कहा है. उन्‍होंने अपना इस्‍तीफा सौंपते हुए पत्र में कहा है, “यह हम सभी के लिए आत्‍ममंथन का वक्‍त  है. मुझे लगता है कि (हार की) जिम्‍मेदारी लेना मेरा नैतिक कर्तव्‍य है. मैं पद से इस्‍तीफा देता हूं.”

वहीं उत्तर प्रदेश में कांग्रेस के खराब प्रदर्शन की जिम्मेदारी प्रदेश अध्यक्ष राज बब्बर ने लेते हुए अपना इस्तीफा राहुल गांधी को भेज दिया है. यहां पर कांग्रेस सिर्फ एक सीट जीत सकी है. अमेठी कांग्रेस के अध्‍यक्ष योगेन्‍द्र मिश्र ने भी इस्‍तीफा राहुल को भेज दिया है.

कांग्रेस नेता और पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्‍त्री के बेटे अनिल शास्‍त्री ने पार्टी की शर्मनाक हार की वजह बताई है. शास्‍त्री ने कहा कि पीएम नरेंद्र मोदी के खिलाफ ‘अत्‍यधिक नकरात्‍मक प्रचार’ करना पार्टी को भारी पड़ गया. शास्‍त्री ने कहा कि “कांग्रेस जनता के मुद्दों को धार नहीं दे सकी और ‘चौकीदार चोर है’ का नारा देश के लोगों को मंजूर नहीं हुआ. प्रधानमंत्री के खिलाफ अत्‍यधिक नकरात्‍मक प्रचार अभियान को लोगों ने ठीक से नहीं लिया.”

“बीच चुनाव मोदी ने बदला प्रचार का फोकस”

शास्‍त्री ने राज्‍य इकाइयों पर हार का ठीकरा फोड़ा. उन्‍होंने ANI से कहा कि “किसी भी हार या जीत के कई कारण होते हैं. एक तो जिस तरह से नरेंद्र मोदी के प्रचार का फोकस विकास से हटाकर राष्‍ट्रवाद, धर्म पर हो गया. प्रज्ञा ठाकुर का भोपाल से चुनाव लड़ना या इनका (मोदी) केदारनाथ, ब्रदीनाथ जाना, ये सब संकेत करता है कि इन्‍होंने कैंपेन के फोकस को बदला जिसका असर मतदाताओं पर पड़ा.”

अनिल शास्‍त्री ने राहुल, प्रियंका का बचाव करते हुए कहा, “जहां तक कांग्रेस पार्टी का सवाल है, राहुल जी और प्रियंका जी ने पूरी कटिबद्धता से प्रचार किया. कोई ऐसा संसदीय क्षेत्र नहीं रहा होगा, जहां राहुल गांधी नहीं गए. मुझे लगता है कि हम शायद अपनी बात जनता तक पहुंचा नहीं पाए.”

ये भी पढ़ें

अमित शाह ने 120 सांसदों के काटे थे टिकट, 100 से ज्यादा सीटों पर BJP को फिर मिली जीत

अमेठी में राहुल हारे तो कन्‍नौज में डिंपल, जानिए यूपी की VIP सीट्स पर क्‍या रहे नतीजे

नरेंद्र मोदी के वो 5 दांव, जिन्‍होंने BJP को पहुंचाया 300 सीटों के पार