बच्चे नहीं कर रहे थे पढ़ाई, टीचर ने उठाई रस्सी और बेंच से बांध दिए पैर

बाल अधिकार संगठन ने कलेक्टर से इस मामले पर संज्ञान लेते हुए कड़ी कार्रवाई करने की मांग की है.
Teacher tied students leg with rope, बच्चे नहीं कर रहे थे पढ़ाई, टीचर ने उठाई रस्सी और बेंच से बांध दिए पैर

आंध्र प्रदेश के अनंतपुर जिले में एक सरकारी स्कूल में छात्रों के साथ ज्यादती का मामला सामने आया है. शिक्षकों पर आरोप है कि बच्चे शैतीनी न करें इसके लिए उन्होंने पैरों में रस्सी बांध डाली. यह मामला जिले के कादिरी नगरपालिका इलाके में मसानम पेट सरकारी स्कूल का है.

काफी समय तक इन बच्चों के पैरों में रस्सी बांधकर इन्हें क्लास रूम में ही रखा गया. छात्रों के संगठन ने स्कूल प्रशासन के खिलाफ शिकायत दर्ज करवाई है. संगठन का आरोप है कि शिक्षकों ने बच्चों के पैर इसलिए बांध दिए क्योंकि वे पढ़ाई नहीं कर रहे थे और काफी शैतानी कर रहे थे. बच्चों के पैरों में रस्सी डालकर उन्हें क्लास रूम के बेंच से बांध दिया गया था.

बाल अधिकार संगठन ने कलेक्टर से इस मामले पर संज्ञान लेते हुए कड़ी कार्रवाई करने की मांग की है. शिकायत मिलने के बाद मंडल एडुकेशन ऑफिसर ने स्कूल का दौरा किया. उन्होंने कहा कि छात्रों के साथ ये ज्यादती है, हम इसकी तहकीकात कर रहे हैं और जल्द ही कमिश्नर को मामले की रिपोर्ट सौंपी जाएगी.

इस मामले में नया मोड उस वक्त आया जब पीड़ित छात्रों के माता-पिता ने कहा कि उन्होंने अपने बच्चों के पैर बांधे हैं. हालांकि पीड़ित छात्रों का बयान इससे उलट था. छात्रों ने कहा कि शिक्षकों ने उनके पैर बेंच के साथ बांधकर रखे थे.

फिलहाल यह एक बहुत ही गंभीर मामला है. इस तरह स्कूल छात्रों के साथ ये बर्ताव किसी भी प्रकार से उचित नहीं है. इस मामले में जो भी दोषी हों, उनपर कार्रवाई की जानी चाहिए.

 

ये भी पढ़ें-   रिटायर होने वाले हैं अमिताभ बच्चन, ब्लॉग में किया इशारा

राज बब्बर के बेटे प्रतीक ने ओपन लेटर के जरिए बताया, कैसे लगी ड्रग की लत…

Related Posts