टेक स्पेशलिस्ट का दावा-चांद की सतह पर मौजूद है रोवर, NASA की तस्वीरों में कुछ मीटर आगे बढ़ा

चंद्रयान 2 (Chandrayaan 2) चांद पर भारत का दूसरा मिशन था, जिसे पिछले साल अंतरिक्ष में भेजा गया था. इसके पास एक लैंडर विक्रम (Lander Vikram) और प्रज्ञान (Pragyan) नाम का एक रोवर था.
Techie claims Chandrayaan 2 Rover Pragyan intact, टेक स्पेशलिस्ट का दावा-चांद की सतह पर मौजूद है रोवर, NASA की तस्वीरों में कुछ मीटर आगे बढ़ा

चेन्नई के टेक विशेषज्ञ ने दावा किया है कि भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान केंद्र (ISRO) के मिशन चंद्रयान-2 का रोवर चांद की सतह पर मौजूद है और कुछ मीटर आगे बढ़ा है. विशेषज्ञ ने इसके लिए नासा की तस्वीरों का हवाला दिया है.

देखिये #अड़ी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर शाम 6 बजे

चंद्रयान 2 (Chandrayaan 2) चांद पर भारत का दूसरा मिशन था, जिसे पिछले साल अंतरिक्ष में भेजा गया था. इसके पास एक लैंडर विक्रम (Lander Vikram) और प्रज्ञान (Pragyan) नाम का एक रोवर था. टैकी शनमुगा सुब्रमण्यन (Shanmuga Subramanian) ने ट्विटर पर कई तस्वीरों की एक सीरीज को पोस्ट करके दावा किया है कि प्रज्ञान वहां पर मौजूद है और लैंडर विक्रम से कुछ मीटर आगे बढ़ा है.

सुब्रमण्यन (Shanmuga Subramanian) ने पहले नासा (NASA) की तस्वीरों के आधार पर विक्रम के मलबे की पहचान की थी. इस बार उन्होंने अपने दावे को मज़बूत कनरे के लिए अंतरिक्ष एजेंसी नासा (NASA) की तस्वीरों का इस्तेमाल किया है.

क्या है दावा?

ट्वीट में उन्होंने कहा कि मुझे जो मलबा मिला वो विक्रम लैंडर लैंगुमिर जांच थी. मलबा NASA ने पाया जो अन्य पेलोड एंटीना, रेट्रो ब्रेकिंग इंजन, साइड पर सोलर पैनल आदि हो सकता है. रोवर लैंडर लुढ़का हुआ है और वो वास्तव में सतह से कुछ मीटर की दूरी पर है.

सुब्रमण्यन ने कहा कि रोवर का पता लगाना मुश्किल था, क्योंकि यह चंद्रमा के दक्षिणी ध्रुव पर मौजूद है, जो “हमेशा अच्छी तरह से प्रकाशमान नहीं है. यही कारण है, तकनीकी विशेषज्ञ कहते हैं, यह 11 नवंबर को नासा फ्लाईबी में नहीं पाया गया था.

उन्होंने आगे ट्वीट किया- “अपडेट: ऐसा लगता है कि लैंडर को दो दिन तक लगातार अंधाधुंध कमांड्स भेजी गईं. इस बात की अलग संभावना है कि लैंडर को कमांड मिली हों और इसने रोवर को उन्हें भेजा हो, लेकिन लैंडर पृथ्वी से कम्यूनिकेट करने में सक्षम न हो.

वैज्ञानिकों ने लूनर सरफेस पर लैंडिंग से 2 मिनट पहले विक्रम लैंडर के साथ संपर्क खो दिया था, प्रज्ञान से चंद्रयान की सतह की जांच करने की उम्मीद थी.

देखिये परवाह देश की सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 10 बजे

Related Posts