offline app, ऑफलाइन ऐप के जरिए कश्मीर में बात कर रहे आतंकी, शेयर कर रहे फर्जी तस्वीरें-वीडियो
offline app, ऑफलाइन ऐप के जरिए कश्मीर में बात कर रहे आतंकी, शेयर कर रहे फर्जी तस्वीरें-वीडियो

ऑफलाइन ऐप के जरिए कश्मीर में बात कर रहे आतंकी, शेयर कर रहे फर्जी तस्वीरें-वीडियो

'टॉर' का इस्तेमाल दुनियाभर के आतंकी नेटवर्क करते हैं. साथ ही 'टॉर' सरकार विरोधी प्रदर्शनकारियों में भी लोकप्रिय है.
offline app, ऑफलाइन ऐप के जरिए कश्मीर में बात कर रहे आतंकी, शेयर कर रहे फर्जी तस्वीरें-वीडियो

जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद से घाटी में इंटरनेट सेवा बंद है. इसके बावजूद पाकिस्तानी घाटी के अलगाववादियों और स्थानीय आतंकियों के साथ संपर्क में हैं और लगातार कश्मीर के फर्जी तस्वीरें व वीडियो शेयर कर रहे हैं. ये सब कई तरह के ऑफलाइन ऐप और चैट प्लैटफार्म ‘टॉर’ जरिए हो रहा है.

आतंकी गुटों में लोकप्रिय है ‘टॉर’
‘टॉर’ का इस्तेमाल दुनियाभर के आतंकी नेटवर्क करते हैं. साथ ही ‘टॉर’ सरकार विरोधी प्रदर्शनकारियों में भी लोकप्रिय है. ‘टॉर’ यूजर की लोकेशन छिपा लेता है और उनकी ब्राउजिंग आदतों की जासूसी भी नहीं हो पाती. यह वेबसाइटों का विजिट करने पर थर्ड पार्टी ट्रैकर्स और ऐड को यूजर्स तक पहुंचने से रोक देता है. यह विंडोज, मैक, लिनक्स और ऐंड्रॉयड के लिए उपलब्ध है.

‘ऑफ-द-ग्रिड’ ऐप से बिना मोबाइल नेटवर्क के ही वाई-फाई या ब्लूटूथ के माध्यम से एक-दूसरे से संपर्क किया जा सकता है. इससे 100-200 मीटर की रेंज में संपर्क साध सकते हैं. यह फेसबुक या वॉट्सऐप की तरह है, लेकिन इसमें केंद्रीय सर्वर नहीं है और मेश नेटवर्क चैट की तरह काम करता है. यह आईओएस और ऐंड्रॉयड के लिए उपलब्ध वॉकीटॉकी ऐप जैसा ही है.

‘फायरचैट’ ऐप का भी हो रहा इस्तेमाल
‘फायरचैट’ ऐप से भी बिना इंटरनेट या मोबाइल कवरेज के आपस में संचार किया जा सकता है. इसके जरिए एक-दूसरे से जुड़कर दुनिया के किसी भी हिस्से में संचार किया जा सकता है. यह ऐप ब्लूटूथ के माध्यम से नजदीकी फोन्स को जोड़ता है, जिन्होंने ऐप इंस्टाल कर रखा है. इससे आसानी से निजी फोन कॉल कर सकते हैं. साथ ही टेक्स्ट मैसेज और फाइलें भी साझा की जा सकती हैं.

ये ऑफलाइन ऐप जम्मू-कश्मीर से सुरक्षा एजेंसिंयों और अधिकारियों के लिए परेशानी पैदा कर रहे हैं. सुरक्षा अधिकारियों को इस नेटवर्क को तोड़ने में खासी मशक्कत करनी पड़ रही है. हालांकि, इस पर काम लगातार जारी है.

ये भी पढ़ें-

बाबा रामदेव के सहयोगी आचार्य बालकृष्ण बनेंगे निरंजनी अखाड़े के महामंडलेश्वर

देश की सरहदें सुरक्षित हैं, निगरानी की समीक्षा करने कश्मीर पहुंचे आर्मी चीफ बिपिन रावत

प्रेमिका का सेक्स वर्कर होना प्रेमी को नहीं था पसंद, मिलने के बहाने बुलाया फिर किया ये हाल

offline app, ऑफलाइन ऐप के जरिए कश्मीर में बात कर रहे आतंकी, शेयर कर रहे फर्जी तस्वीरें-वीडियो
offline app, ऑफलाइन ऐप के जरिए कश्मीर में बात कर रहे आतंकी, शेयर कर रहे फर्जी तस्वीरें-वीडियो

Related Posts

offline app, ऑफलाइन ऐप के जरिए कश्मीर में बात कर रहे आतंकी, शेयर कर रहे फर्जी तस्वीरें-वीडियो
offline app, ऑफलाइन ऐप के जरिए कश्मीर में बात कर रहे आतंकी, शेयर कर रहे फर्जी तस्वीरें-वीडियो