1 करोड़ रुपये की रिश्वत लेते पकड़ा गया था अधिकारी, जेल की कोठरी में की आत्महत्या

भ्रष्टाचार रोधी ब्यूरो (ACB) ने 14 अगस्त को एक रियल एस्टेट डीलर से रिश्वत लेने के आरोप में अधिकारी को गिरफ्तार किया था.

  • IANS
  • Publish Date - 7:26 pm, Wed, 14 October 20

रिश्वत लेने के आरोप में तेलंगाना की चंचलगुडा जेल में बंद तेलंगाना सरकार के एक अधिकारी ने खुदकुशी कर ली है. जानकारी के मुताबिक उसे अगस्त महीने में 1.10 करोड़ रुपये की रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों पकड़ा गया था. पुलिस ने बुधवार को ये जानकारी दी है. पुलिस ने बताया कि कीसरा के पूर्व तहसीलदार, इरवा बलराजू नागराजू ने कथित तौर पर जेल की कोठरी में फांसी लगा ली है.

उनके शव को ऑटोप्सी के लिए उस्मानिया अस्पताल भेजा गया और दबीरपुरा पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है. भ्रष्टाचार रोधी ब्यूरो (ACB) ने 14 अगस्त को एक रियल एस्टेट डीलर से रिश्वत लेने के आरोप में अधिकारी को गिरफ्तार किया था.

इमरान के NSA के बातचीत वाले दावे को भारत ने झुठलाया, कहा- यह उनकी अपनी कल्पना है

उन्होंने कथित तौर पर हैदराबाद के बाहरी इलाके कीसरा मंडल के रामपल्ली दयारा गांव की 19 एकड़ भूमि से संबंधित जमीन के मुद्दे को निपटाने के लिए 2 करोड़ रुपये की मांग की थी. नागराजू, रियल एस्टेट डीलर चौला श्रीनाथ, एक अन्य रियल एस्टेट डीलर के. अंजी रेड्डी और ग्राम राजस्व सहायक (VRA) बोंगू साई राज के खिलाफ भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के तहत एक मामला दर्ज किया गया था.

इन चारों को गिरफ्तार कर ACB मामलों की विशेष अदालत के समक्ष पेश किया गया था, जिसने इन्हें न्यायिक हिरासत में भेज दिया था. ACB ने नागराजू के आवास से 36 लाख रुपये, आधा किलो सोना और अचल संपत्ति के दस्तावेज भी बरामद किए थे.

दूसरे विश्व युद्ध में गिराया गया था बम, डिफ्यूज करते समय हुआ धमाका, जानें क्या हुआ उसके बाद