गांधी अस्पताल के स्टाफ को लगा टिक-टॉक वीडियो बनाने का बुखार

इस मामले में दो छात्रों के खिलाफ कार्रवाई की गई है. वीडियो निकालने के आरोप में अस्पताल के अधीक्षक ने दो छात्रों को निलंबित किया है.

  • TV9 Hindi
  • Publish Date - 6:27 pm, Fri, 26 July 19

हैदराबाद: वीडियो मेकिंग एप टिक-टॉक का खुमार लोगों के सिर चढ़कर बोल रहा है, लोग हर जगह वीडियो बना उसे शेयर कर रहे हैं. ये खुमार अब हैदराबाद के गांधी अस्पताल तक पहुंच गया है. गांधी अस्पताल के डॉक्टर्स और स्टाफ भी टिक-टॉक के लिए अपना वीडियो बना रहे हैं.

मरीज डॉक्टरों का इंतेजार में घंटों बिता रहे हैं तो दूसरी तरफ डॉक्टरों पर टिकटोक का खुमार चढ़ा हुआ है. ताजा वीडियो गांधी अस्पताल के फिजियोथेरेपी विभाग का है, जो काफी वायरल हुआ है. ऐसा ही वीडियो दूसरे विभाग से वायरल हुआ है.

बता दें कि गांधी अस्पताल हैदराबाद का सबसे बड़ा सरकारी अस्पताल और मेडिकल कॉलेज है. इसीलिए विवाद होना लाजमी है.

कुछ दिन पहले तेलंगाना के खम्मम मुनिसिपलिटी दफ्तर में भी ऐसे टिक-टॉक वीडियो वायरल हुए थे, उनपर कारवाई भी हुई थी.

इस मामले में दो छात्रों के खिलाफ कार्रवाई की गई है. वीडियो निकालने के आरोप में अस्पताल के अधीक्षक ने दो छात्रों को निलंबित किया है. छात्रों के साथ फिजियोथेरेपी विभाग के प्रभारी अधीक्षक को भी निलंबित किया गया है.

हालांकि इस मामले में अस्पताल अधीक्षक का कहना है कि फिजियोथेरेपी विभाग में दूसरी यूनिवर्सिटी से प्रशिक्षण के लिए आए छात्रों ने ये टिक-टॉक वीडियो बनाया है. गांधी अस्पताल के छात्रों का इससे कोई संबंध नहीं है. इस घटना की पड़ताल जारी है. और इसकी रोकथाम के लिए आवश्यक कदम उठाये जा रहे हैं.

ये भी पढ़ें- फ्लैट चाहने वालों से जो पैसे लिए, उनसे आम्रपाली ग्रुप ने खरीदा करोड़ों का सोना