पाकिस्तान से MFN दर्जा वापस लेने से भारत में महंगी हो जाएंगी कॉटन, डाई, केमिकल्स और ये वस्तुएं!

Share this on WhatsAppभारत ने पाकिस्तान को दिया मोस्ट फेवर्ड नेशन (MFN) का दर्जा शुक्रवार को वापस ले लिया. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अगुवाई में हुई सुरक्षा मामलों की केंद्रीय कमेटी की बैठक के बाद यह फैसला लिया गया. इसे जम्मू-कश्मीर में सीआरपीएफ पर हुए आतंकी हमले के खिलाफ भारत द्वारा उठाया गया पहला बड़ा […]

भारत ने पाकिस्तान को दिया मोस्ट फेवर्ड नेशन (MFN) का दर्जा शुक्रवार को वापस ले लिया. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अगुवाई में हुई सुरक्षा मामलों की केंद्रीय कमेटी की बैठक के बाद यह फैसला लिया गया. इसे जम्मू-कश्मीर में सीआरपीएफ पर हुए आतंकी हमले के खिलाफ भारत द्वारा उठाया गया पहला बड़ा कदम माना जा रहा है. पुलवामा में सीआरपीएफ के काफिले पर पाकिस्तानी आतंकवादी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के हमले में 40 जवान शहीद हो गए थे. इस कायराना हमले के बाद से ही देशभर में पाकिस्तान के खिलाफ रोष बना हुआ है.

क्या होता है MFN
एमएफएन का दर्जा हासिल करने वाले देश को व्यापार संबंधी सुविधाएं मिलती हैं. इसे आयात को बढ़ावा देने वाला कदम भी माना जाता है. विश्व व्यापार संगठन(WTO) के सदस्य देश आपस में एक-दूसरे को MFN का दर्ज देते हैं. इसके बाद अंतरराष्ट्रीय व्यापार नियमों का पालन करना जरूरी मान लिया जाता है. विकाशसील देशों के लिए इसे लाभकाफी कदम माना गया है.

डब्ल्यूटीओ का गठन साल 1995 में हुआ था. भारत ने इसके एक साल बाद ही पाकिस्तान को एमएफएन का दर्जा दे दिया था. हालांकि पाकिस्तान ने अभी तक भारत को यह दर्जा नहीं दिया है. इसे लेकर भी लंबे समय से सवाल उठता रहा है.

भारत-पाकिस्तान के बीच व्यापार
भारत और पाकिस्तान के बीच वित्त वर्ष 2017-18 में कुल व्यापार 2.4 अरब डॉलर का हुआ. यह भारत के कुल व्यापार के 0.5 फीसदी से भी कम है. इसमें भारत ने पाकिस्तान को 1.9 अरब डॉलर के सामान का निर्यात किया, जो कि कुल निर्यात का एक फीसदी भी नहीं है. वहीं, भारत ने पाकिस्तान से 48.8 करोड़ डॉलर के सामान का आयात किया. जो कि कुल आयात के 0.2 फीसदी भी नहीं है.

पुलवामा में सीआरपीएफ के काफिले पर हमले में 40 जवान शहीद हो गए थे. (ANI Photo)

इन वस्तुओं का होता है आयात-निर्यात
पाकिस्तान भारत से केवल 138 चीजों का ही आयात करता है. इनमें चीनी, चाय, ऑयल केक, पेट्रोलियम ऑयल, कॉटन, टायर और रबड़ प्रमुख है. जबकि पाकिस्तान ने 1,209 आइटम्स के भारत से आयात पर रोक लगा रखी है. वहीं, भारत पाकिस्तान से कॉटन, डाई, केमिकल्स, सब्जियां, लोहा और इस्पात का आयात करता है.

भारत में ये वस्तुएं होंगी महंगी
भारत द्वारा पाकिस्तान से एमएफएन का दर्जा वापस लिए जाने से कुछ वस्तुएं महंगी हो सकती हैं. आर्थिक मामलों के जानकारों का मानना है कि इससे कॉटन, डाई, केमिकल्स, सब्जियां, लोहा और इस्पात भारत में कुछ महंगे हो जाएंगे. हालांकि यह एक सीमित दायरे में ही होगा.

कूटनीतिक है ‘MFN कदम’
जानकारों का कहना है कि भारत द्वारा उठाया गया ‘MFN कदम’ कूटनीतिक है. इससे भारत पाकिस्तान को वैश्विक स्तर पर अलग-थलग करना चाहता है. इसे पाकिस्तान पर अंतरराष्ट्रीय दबाव डालने का हिस्सा माना जा रहा है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *