2019 Monsoon Prediction: जानिए आपके इलाके में कैसी होगी बारिश

इस मौसम में पूर्व, पूर्वोत्तर और मध्य भारत के हिस्सों में उत्तर, पश्चिमी भारत और दक्षिणी प्रायद्वीप से कम बारिश होगी.

नई दिल्ली: राजधानी दिल्ली से सटे इलाकों में जब बुधवार की सुबह बारिश हुई तो गर्मी से तप रहे एनसीआर के लोगों को राहत मिली. लेकिन मौसम विभाग से आई जानकारी उन्हें थोड़ा सा परेशान जरूर कर सकती है.

दरअसल मंगलवार को स्काईमेट ने भविष्यवाणी की कि इसबार मॉनसून 4 जून को केरल के तटों पर दस्तक दे सकता है. इसे भारत में बरसात के मौसम और मॉनसून की आधिकारिक शुरूआत माना जाता है. इस बार मॉनसून में कुछ दिनों की देरी होगी. आमतौर पर मॉनसून 1 जून के आस-पास केरल के तटों को छू लेता है.

मॉनसून में देरी के साथ ही स्काईमेट का कहना है कि इस बार भारत में मॉनसून के दरिमियान बारिश सामान्य से कम रहेगी. स्काईमेट के सीईओ जतिन सिंह का कहना है कि 22 मई को मॉनसून अंडमान और निकोबार द्वीप पहुंचेगा. जो कि चार जून को केरल पहुंचेगा.

जतिन के मुताबिक इस मौसम में पूर्व, पूर्वोत्तर और मध्य भारत के हिस्सों में उत्तर पश्चिम भारत और दक्षिणी प्रायद्वीप से कम बारिश होगी. उनका कहना है कि इस मौसम में सभी चार क्षेत्रों में सामान्य से कम बारिश होगी.

आपके इलाके में कैसा रहेगा मॉनसून

स्काइनेट के मुताबिक इसबार पूर्वी और पूर्वोत्तर भारत में 92 प्रतिशत ही बारिश होगी. आमतौर पर इन इलाकों में जून से सितंबर महीने के बीच औसतन 1438 मिलीमीटर बारिश होती है. वहीं उत्तर और पश्चिम भारत में सामान्य बारिश की संभावनाएं जताई गई हैं.

मध्य भारत में आमतौर पर सामान्य मॉनसून की स्थिति में 976 मिलीमिटर बारिश होती है. लेकिन इसबार इन इलाकों में 91 प्रतिशत बारिश होने की उम्मीद है. जबकि दक्षिण भारत के इलाकों में 95 फीसदी तक बारिश होने का अनुमान है.

पहाड़ी राज्यों जैसे जम्मू कश्मीर, हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड में हरियाणा, पंजाब, राजस्थान और राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्रों के मुकाबले ज्यादा बारिश होने की उम्मीद है. वहीं सूखाग्रस्त विदर्भ, मराठवाड़ा, पश्चिमी मध्य प्रदेश और गुजरात के इलाकों में बारिश के सामान्य से कम रहने के आसार हैं. ये इलाके इसबार भी सूखे जैसी स्थिति से गुजर सकते हैं.

ये भी पढ़ें: चुनाव प्रचार पर रोक का फैसला EC का नहीं मोदी शाह का फैसला है- ममता बनर्जी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *