TIME ने नरेंद्र मोदी को बताया ‘एकजुट रखने वाला प्रधानमंत्री’, पहले कहा था ‘डिवाइडर इन चीफ’

TIME के लेख में तकनीक के प्रति नरेंद्र मोदी के रुझान पर भी चर्चा की गई है.

नई दिल्‍ली: अमेरिका की मशहूर TIME मैगजीन ने अब नरेंद्र मोदी को ऐसा प्रधानमंत्री बताया है जिसने ‘दशकों में पहली बार भारत को एकजुट किया’ है. इससे पहले 10 मई को सामने आए संस्‍करण में TIME के कवर पेज पर मोदी की तस्‍वीर छपी थी और उन्‍हें ‘इंडियाज डिवाइडर इन चीफ(भारत को बांटने वाला प्रमुख)’ बताया गया था.

इस बार TIME में Modi Has United India Like No Prime Minister in Decades हेडिंग से छपे इस लेख को मनोज लाडवा ने लिखा है. वह इंडिया इंक समूह के संस्‍थापक और सीईओ हैं. अपने लेख में उन्‍होंने लिखा है कि मोदी के अलावा किसी और प्रधानमंत्री ने करीब 5 दशक लंबे समय में भारतीय मतदाताओं को एकजुट नहीं किया.

लेख में एक सवाल पूछा गया है कि, “कैसे यह कथित विभाजनकारी शख्सियत न केवल सत्ता में कायम रह पाया है, बल्कि उसके समर्थक और भी ज्यादा बढ़ गए हैं?” और, इस प्रश्न के जवाब में लेख में कहा गया है, “एक प्रमुख कारक यह रहा है कि मोदी भारत की सबसे बड़ी कमी : जातिगत भेदभाव को पार करने में कामयाब रहे हैं.

भारत को दोबारा क्‍यों भाये मोदी?

TIME के लेख में इस बात का भी जिक्र किया गया है कि आखिरी बार अपने दम पर संसद में बहुमत पाकर बैठने वाली इंदिरा गांधी अंतिम प्रधानमंत्री थीं. उनके गठबंधन को कुल मतों का करीब 50 फीसदी हासिल हुआ था. लेख में बताया गया है कि एक निचली जाति से आने वाले मोदी ने जिस तरह देश के शीर्ष पद तक सफर तय किया, वह जनता को भा गया.

इस लेख में कहा गया है कि मोदी हिंदू और अल्‍पसंख्‍यकों को गरीबी से बाहर लेकर आए हैं. देश को स्‍वच्‍छता के मामले में भी उन्‍होंने आगे बढ़ाया है. TIME के लेख में बिजली वितरण व्‍यवस्‍था का भी जिक्र किया गया है. तकनीक के प्रति मोदी के रुझान पर भी लेख में चर्चा की गई है. नोटबंदी को ऐसा फैसला बताया गया है जिसके दूरगामी फायदे हुए हैं.

TIME के लेख में कहा गया कि मोदी ने महंगाई को काबू किया और जीएसटी लाकर भारत को असल मायनों में एक बाजार में बदल दिया. लेख में मोदी से कुछ अपेक्षाएं भी रखी गई हैं, जैसे दुनिया का सबसे बड़ा स्‍टार्ट-अप इको सिस्‍टम का वादा पूरा करना. यह भी कहा गया है कि भारत के मतदाताओं के लिए ‘न्‍यू इंडिया’ का मोदी का सपना उसी तरह बरकरार है.

टाइम ने 20 मई के अपने अंतरराष्‍ट्रीय संस्करण के कवर आर्टिकल में मोदी को राजनीतिक महत्वाकांक्षा को पूरा करने के लिए जाति व धर्म के आधार पर ‘भारत का बांटनेवाला प्रमुख’ करार दिया था. इसे आतिश तासीर ने लिखा था और मैगजीन की खासी आलोचना हुई थी.

ये भी पढ़ें

बंगाल में जिन BJP कार्यकर्ताओं की हत्‍या हुई, नरेंद्र मोदी के शपथग्रहण में शामिल होंगे उनके परिवार

राजस्‍थान में जावड़ेकर की जमाई जड़ों के आगे यूं फेल हुई ‘जादूगर’ गहलोत की जादूगरी

रजनीकांत ने PM मोदी को बताया करिश्माई नेता, राहुल गांधी को दी यह सलाह