सोने के भाव में लगी आग की आँच शेयर बाजार तक पहुंची, TITAN का स्टॉक धराशाई

TITAN में आई गिरावट से बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज के संवेदी सूचकांक सेंसेक्स और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज के एनएसई में भी गिरावट देखी गई. देखते ही देखते टाइटन के अलावा सोने का कारोबार करने वाली दूसरी लिस्टेड कंपनियों के शेयरों में भी सुस्ती आ गई.

16 महीनों की सबसे बड़ी गिरावट के बाद मंगलवार सुबह शेयर बाजार संभला ही था कि TITAN कंपनी के शेयरों में भूचाल आ गया. इतनी तेज बिकवाली हुई कि इसके शेयर लगभघ 15 परसेंट तक लुढक गए. TITAN तनिष्क स्टोर के जरिए जूलरी कारोबार करती है.

TITAN में आई गिरावट से बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज के संवेदी सूचकांक सेंसेक्स और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज के एनएसई में भी गिरावट देखी गई. देखते ही देखते टाइटन के अलावा सोने का कारोबार करने वाली दूसरी लिस्टेड कंपनियों के शेयरों में भी सुस्ती आ गई.

एक समय बीएसई में TITAN के शेयर का दाम 14.37 प्रतिशत गिर कर 1072 रुपए पर पहुंच गया. पिछले तीन साल में इस कंपनी ने एक ही कारोबारी दिन में ऐसी गिरवाट नहीं देखी थी. दरअसल सोमवार को बाजार बंद होने के बाद ही टाइटन ने बीएसई को बताया था कि अप्रैल से जून के बीच की तिमाही में सोने की खपत बहुत घट गई. टाइटन के मुताबिक जून में सोने का भाव आसमान छूने लगा जिसके कारण जूलरी इंडस्ट्री पर असर पड़ा है. इसके कारण कंपनी के रेवन्यू पर असर पड़ा है.

टाइटन ने शेयर बाजार को दी गई फाइलिंग में बताया है कि पहली तिमाही में जूलरी सेगमेंट 13 परसेंट ही बढ़ पाया क्योंकि लोगों ने सोने में रुचि नहीं दिखाई. जो भी बिक्री में वृद्धि हुई वो अक्षय तृतिया की खरीदारी के कारण हुई. कंपनी ने बताया कि पहली तिमाही में तनिष्क के नौ नए स्टोर खोले गए हैं.

टाइटन ने बिक्री में कम वृद्धि के लिए देश की आर्थिक स्थिति को भी जिम्मेदार ठहराया क्योंकि लोग खर्च करने के मूड में नहीं हैं. इससे पहले ऑटो सेगमेंट में भी सुस्ती की रिपोर्ट आई थी. कारों की बिक्री हर तिमाही घट रही है. ऐसा कई वर्षों में पहली बार हुआ है.