कश्मीरी मां-बच्चे की जान बचाने को CRPF जवान ने दिया खून, लोग कर रहे तारीफ

25 वर्षीय गर्भवती महिला की डिलीवरी में कई कॉम्पलिकेशन थे. डिलीवरी के दौरान महिला का काफी खून बह चुका था.

कश्मीर: जम्मू-कश्मीर में तैनात सेंट्रल रिसर्व पुलिस बल का एक कांस्टेबल इन दिनों सोशल मीडिया पर खूब वाहवाही लूट रहा है. यह वाहवाही इस कांस्टेबल को इसलिए मिल रही है कि क्योंकि इसने ड्यूटी की अपनी सीमाओं से परे जाकर एक स्थानीय महिला और उसके होने वाले बच्चे की जान बचाई है.

25 वर्षीय गर्भवती महिला की डिलीवरी में कई कॉम्पलिकेशन थे. डिलीवरी के दौरान महिला का काफी खून बह चुका था. गुलशन इलाके की रहने वाली महिला के परिवार ने सीआरपीएफ मददगार से खून डोनेट करने के लिए मदद मांगी.

महिला की स्थिति के बारे में जब 53वीं बटालियन के जवान गोहिल शैलश को लगा, तो उसने फैसला किया कि वह तुरंत महिला और उसके बच्चे की जान बचाएगा.

मददगार कश्मीरी नागरिकों के लिए एक हेल्पलाइन बनाई गई है, जिसमें अगर किसी को कोई मेडिकल मदद चाहिए होती है तो मददगार के जरिए उस व्यक्ति की हेल्प की जाती है. मददगार को सीआरपीएफ नियंत्रित करती है.

इस घटना की जानकारी खुद सीआरपीएफ ने अपने ट्विटर हैंडल के जरिए दी. इसके कैप्शन में सीआरपीएफ ने लिखा, “खून का रिश्ता, गोहिल के खून ने मां-बच्चे की जान बचाई और जिंदगी का एक नया बॉन्ड बन गया.” इसके साथ ही सीआरपीएफ ने गोहिल और नवजात बच्चे की तस्वीर भी साझा की है.

सीआरपीएफ जवान के इस कदम की सोशल मीडिया पर खूब तारीफ हो रही है. लोग ट्विटर पर तरह-तरह की प्रतिक्रिया दे रहे हैं और कह रहे हैं कि देश आपके खून का कर्जदार है.