Delhi Violence: राजीव चौक मेट्रो स्टेशन पर लगे ‘गोली मारो’ के नारे, 6 हिरासत में पढ़ें Latest Updates

दिल्ली पुलिस और पैरामिलिट्री फोर्स रात भर दंगा प्रभावित इलाकों में गश्त कर रही है. जाफराबाद, मौजपुर, करावल नगर, भजनपुरा और सीलमपुर इन इलाकों में हिंसा पर तो काबू पा लिया गया लेकिन अब तनावपूर्ण शांति बना हुई है.
Top 10 updates of Delhi violence, Delhi Violence: राजीव चौक मेट्रो स्टेशन पर लगे ‘गोली मारो’ के नारे, 6 हिरासत में पढ़ें Latest Updates

दिल्ली के नॉर्थ-ईस्ट इलाके में अब जन-जीवन पटरी पर लौटने लगा है. सड़कों पर गाड़ियां चलने लगी हैं लेकिन बाजार में कहीं दुकाने खुल रहीं हैं तो कहीं अभी सन्नाटा छाया हुआ है. इस हिंसा में अब तक 42 लोगों की मौत हो चुकी है. पुलिस के मुताबिक इनमें से 22 लोगों की मौत पत्थर लगने से और 13 लोगों की मौत गोली लगने से हुई है.

दिल्ली पुलिस और पैरामिलिट्री फोर्स रात भर दंगा प्रभावित इलाकों में गश्त कर रही है. जाफराबाद, मौजपुर, करावल नगर, भजनपुरा और सीलमपुर इन इलाकों में हिंसा पर तो काबू पा लिया गया लेकिन अब तनावपूर्ण शांति बना हुई है. पुलिस प्रशासन लोगों से लगातार बात कर रहा है और किसी भी तरह की अफवाहों से बचने की अपील भी की जा रही है.

Delhi Violence की टॉप 10 अपडेट्स…

  • दिल्ली हिंसा के बाद नॉर्थ-ईस्ट का इलाका तो शांत हो गया लेकिन शनिवार को राजीव चौक मेट्रो स्टेशन पर 6 लड़कों ने देश के गद्दारों को….का नारा लगाया. घटना दोपहर करीब 12:30 बजे की है. दिल्ली मेट्रो के आधिकारियों ने बताया कि इन सभी को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है.

  • दिल्ली में हिंसा के चलते नॉर्थ-ईस्ट के सभी स्कूलों को 7 मार्च तक बंद करने के आदेश दिए गए हैं.
  • दिल्ली हिंसा और आगजनी में अब तक 42 लोगों की मौत हो चुकी है. पुलिस के मुताबिक इनमें से 22 लोगों की मौत पत्थर लगने से और 13 लोगों की मौत गोली लगने से हुई है. इनमें से 35 शवों की पहचान की जा चुकी बाकियों जांच अभी जारी है.
  • दिल्ली पुलिस ने हिंसा भड़काने के मामले के आरोप में कांग्रेस की पूर्व पार्षद इशरत जहां को गिरफ्तार किया है. पुलिस ने इशरत जहां को गिरफ्तार कर कोर्ट में पेश किया, जिसके बाद कोर्ट ने कांग्रेस की पूर्व पार्षद को 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया है. इशरत जहां पिछले 50 दिनों से उत्तर-पूर्वी दिल्ली के खुरेजी इलाके में नागरिकता संशोधन कानून (CAA) के खिलाफ विरोध प्रदर्शन कर रही थीं.
  • हिंसा के बाद शांति को देखते हुए दिल्ली पुलिस ने शनिवार को पुलिस ने हिंसा प्रभावित इलाकों में 10 बजे से लेकर 2 बजे तक धारा-144 में छूट दी है. इस दौरान दिल्ली पुलिस के ज्वाइंट कमिश्नर आलोक कुमार ने बताया कि 25 फरवरी की शाम से हिंसा की कोई घटना नहीं हुई है.

  • दिल्ली हिंसा की जांच कर रही SIT अब साइबर सेल की भी मदद लेगी. दरअसल SIT को हिंसा के दौरान के कई CCTV फुटेज हाथ लगे हैं लेकिन इनमें से कुछ की क्वालिटी काफी खराब है जिसके लिए SIT ने साइबर सेल की मदद मांगी है. मालूम हो कि इस मामले में करीब 12 FIR की जांच साइबर सेल भी कर रहा है.
  • बीजेपी सांसद परवेश वर्मा ने शनिवार को घोषणा की कि वे अपने एक महीने का वेतन दिल्ली हिंसा में शहीद हुए हेड कॉन्स्टेबल रतन लाल और IB अफसर अंकित शर्मा के परिवार को देंगे.
  • शनिवार को बीएसएफ की एक टीम दिल्ली में BSF कांस्टेबल मोहम्मद अनीस के घर पहुंची. दिल्ली हिंसा के दौरान दंगाइयों ने कांस्टेबल अनीस के घर को भी आग लगा दी थी. इस टीम के साथ BSF के डीआईजी पुष्पेंद्र राठौड़ भी पहुंचे. उन्होंने बताया कि हमारे साथ बीएसएफ की इंजीनियर्स की टीम भी आई है. वे लोग कांस्टेबल अनीस के घर की मरम्मत करेंगे और BSF की तरफ से कांस्टेबल को आर्थिक सहायता भी दी जाएगी.

  • शनिवार को एक टीम दिल्ली के शिव विहार इलाके में पहुंची जहां दंगों के दौरान कई घरों को में आगजनी और तोड़फोड़ की गई थी. टीम के साथ आए सब-डिवीजनल मजिस्ट्रे प्रदीप तयान ने बताया कि जिन लोगों के घर पूरी तरह से जल चुके हैं हम उन्हें फॉर्म भी दे रहे हैं ताकि उन लोगों को सरकार की तरफ से 25000 की राहत राशि मिल सके.

  • वहीं शनिवार को बीजेपी नेता कपिल मिश्रा ने जंतर-मंतर पर एक शांति मार्च निकाला. मार्च के दौरान हिंसा में मारे गए दिल्ली पुलिस के हेड कांस्टेबल रतन लाल और आईबी अफसर अंकित शर्मा की तस्वीरें भी दिखाई दीं. इस दौरान मीडिया से बात करते हुए कपिल मिश्रा ने कहा, ‘दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल दादरी मारे गए अखलाक के घर तो चले गए थे लेकिन उन्हें अभी तक अंकित शर्मा के घर जाने का समय नहीं मिली.’
  • दिल्ली पुलिस कमिश्नर अमूल्य पटनायक ने शनिवार को अपनी फेयरवेल के दौरान दिल्ली हिंसा में मारे गए हेड कांस्टेबल रतन लाल को श्रध्दांजली दी. इस दौरान उन्होंने कहा कि हेड कांस्टेबल रतन लाल की मौत का मुझे गहरा दुख पहुंचा है. मैं हिंसा में घायल हुए दिल्ली पुलिस के जवानों की जल्द ठीक होने की कामना करता हूं.

ये भी पढ़ें:

दिल्ली दंगों की कहानी पुलिस की जुबानी…कब क्या हुआ?

Related Posts