टॉप स्ट्रैटजिक ने जताया अंदेशा- सैन्य संघर्ष में बदल सकता है भारत, चीन के बीच Ladakh विवाद

एशले (Ashley J. Tellis) वो शख्स है जिन्होंने तत्कालीन बुश प्रशासन को भारत के साथ ऐतिहासिक परमाणु समझौता (Historical Nuclear Deal) करने में मदद की थी.
India China ladakh dispute, टॉप स्ट्रैटजिक ने जताया अंदेशा- सैन्य संघर्ष में बदल सकता है भारत, चीन के बीच  Ladakh विवाद

लद्दाख में बॉर्डर को लेकर पिछले कुछ समय से भारत और चीन (India-China Conflict) के बीच विवाद चल रहा है. अब इस बीच दुनिया के मशहूर स्ट्रैटेजिक और इंटरनेशनल सिक्योरिटी एक्सपर्ट एशले जे टेलिस (Ashley J. Tellis) को डर है कि भारत और चीन के बीच लद्दाख (Ladakh) को लेकर हो रहा विवाद दो एशियाई दिग्गज देशों के बीच एक सैन्य संघर्ष में बदल सकता है.

इंडिया टुडे की रिपोर्ट के अनुसार, एशले ने कहा कि मेरे लिए यह बहुत स्पष्ट है कि सभी अलग-अलग क्षेत्रों में भारत के साथ सीमाओं पर जो हो रहा है, वह निश्चित रूप से कुछ स्थानीय कार्रवाई नहीं है. इसे देखकर लगता है कि केवल कुछ जोशीले स्थानीय कमांडर्स द्वारा उकसाया जा रहा है.

देखिये फिक्र आपकी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 9 बजे

एशले वो शख्स है जिन्होंने तत्कालीन बुश प्रशासन को भारत के साथ ऐतिहासिक परमाणु समझौता करने में मदद की थी. एशले का मानना ​​है कि नई दिल्ली को बीजिंग के साथ संभावित संघर्ष के लिए सैन्य रूप से तैयार रहना चाहिए, जबकि दोनों राजनयिक बातचीत में बिजी हैं.

उन्होंने कहा कि इस मुद्दे को लेकर भारत ने खुद चीन के साथ बातचीत जारी रखी है. मुझे लगता है कि यह स्पष्ट रूप से प्रयास की पहली लाइन है जिसे नियोजित किया जाना है. दूसरा, भारत को संभावित सैन्य तैयारी करना जारी रखना है, जिसमें वृद्धि की आशंका करना भी शामिल है और चीनियों को यह विचार करने के लिए मजबूर करना चाहिए कि चीन की अपनी प्रतिष्ठा के लिए और चीन के स्वयं के हितों के लिए क्या हो सकता है. खासकर, यह देखते हुए कि ये सीमांत क्षेत्र हैं और चीन के मूल हितों के लिए बुनियादी तौर पर कुछ भी नहीं हैं.

एशले का मानना है कि लद्दाख में चीन की गतिविधियां स्पष्ट रूप से अपने स्टैटस को बदलने का एक प्रयास है. उन्होंने कहा कि मुझे लगता है कि चीन जो कुछ करने की कोशिश कर रहा है वह जमीनी स्तर पर नए फैक्ट्स को स्थापित करने की एक कोशिश है. सैनिकों और मटेरियल्स को सीमा के पार धकेलने से वो स्थिति को बदलकर लाभ पाना चाहता है.

देखिये परवाह देश की सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 10 बजे

Related Posts