• Home  »  अपराधदेश   »   लुटियंस दिल्ली के फाइव स्टार होटल में टूरिस्ट गाइड के साथ गैंगरेप, मुख्य आरोपी गिरफ्तार

लुटियंस दिल्ली के फाइव स्टार होटल में टूरिस्ट गाइड के साथ गैंगरेप, मुख्य आरोपी गिरफ्तार

पीड़ित महिला एक टूरिस्ट गाइड है और टिकट बुकिंग का काम करती है. लॉकडाउन (Lockdown) के कारण उसका काम पूरी तरह ठप हो गया. पैसे की कमी के कारण उसके एक करीबी ने लोन दिलाने की बात कही. लोन देने के बहाने महिला को होटल बुलाया और गैंगरेप किया.

  • TV9 Hindi
  • Publish Date - 4:13 pm, Mon, 21 September 20

नई दिल्ली के एक पांच सितार होटल में एक महिला से गैंगरेप का मामला सामने आया है. पीड़ित महिला के मुताबिक एक अन्य महिला ने उन पांच व्यक्तियों को उसका बलात्कार (Rape) करने के लिए भड़काया. इस मामले में पुलिस ने बलात्कार का केस दर्ज किया है.

पुलिस के मुताबिक पीड़ित महिला 27 साल की एक शादीशुदा टूरिस्ट गाइड है और वह टिकट बुकिंग एजेंट के रूप में काम करती है. वह घर से ही काम करती थी. लॉकडाउन (Lockdown) में लगभग सारा काम बंद हो गया था. लॉकडाउन के कारण महिला के पति का काम भी ठीक से नहीं चल रहा था. इस वजह से महिला को पैसों की जरूरत थी. महिला के एक जानकार मनोज ने उसे सस्ती दरों पर लोन दिलाने का वादा किया.

शुक्रवार को मनोज ने युवती को फोन करके लोन दिलाने के लिए पहले नई दिल्ली के विट्ठल भाई कॉम्प्लेक्स पर बुलाया. युवती जब वहां गई तो मनोज नहीं मिला. युवती ने उसे फोन किया, तो मनोज ने उसे विंडसर प्लेस स्थित एक होटल में आने को कहा. रात 9:30 बजे युवती वहां पहुंची तो उसे एक कमरे में बुलाया.

पीड़िता के मुताबिक कमरे में मनोज के अलावा 5 और लोग थे. उनके साथ एक महिला भी थी. वो लोग शराब पी रहे थे. महिला के कहने पर ही आरोपियों ने उसके साथ जबरदस्ती करना शुरू कर दिया. विरोध करने पर युवती के साथ मरपीट और गैंग रेप किया.

महिला से रेप के मामले में मुख्य आरोपी मालवीय नगर निवासी मनोज शर्मा को गिरफ्तार किया गया है. मनोज ने ही रेप के बाद महिला को उसके घर भी छोड़ा. अन्य आरोपियों की पुलिस तलाश कर रही है.

आरोपियों पर केस दर्ज

पुलिस ने बताया कि वारदात शुक्रवार रात 9:30 बजे से 12 बजे के बीच हुई. शनिवार को युवती कानूनी सलाह लेने के बाद मेडिकल जांच के लिए सफदरजंग हॉस्पिटल पहुंची. वहीं से रात 8 बजे के कारीब PCR को कॉल की गई, जिसके बाद कनॉट प्लेस थाने से वरिष्ठ अधिकारी अस्पताल पहुंचे और युवती से पूछताछ के बाद उसकी मेडिकल जांच कराई.

18 लाख के लोन की हुई थी बात

पुलिस के मुताबिक जिस कमरे में यह वारदात हुई वह दो बिजनेसमैन के नाम पर बुक किया गया था. पीड़ित महिला को मनोज शर्मा ने 18 लाख रुपये का लोन दिलाने की बात कही थी. महिला को 7 लाख रुपये पहले मिल चुके थे. वह लोन की दूसरी किश्त लेने के लिए गई थी.