दुबई और ब्रिटेन से आने वाले यात्रियों ने भारत में सबसे ज्यादा फैलाया कोराना: IIT स्टडी

दुबई (Dubai ) और ब्रिटेन (Uk) से आए यात्री भारत में कोविड-19 संक्रमण लाने वाले प्रारंभिक स्रोत रहे हैं. भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान ((IIT Mandi) द्वारा किये गए विश्लेषण में यह बात सामने आई है.

  • TV9 Hindi
  • Publish Date - 6:29 pm, Sun, 27 September 20

भारत में कोरोना (covid-19) संक्रमण के प्रसार के लिए सरकार भले ही तबलीगी जमात को जिम्मेदार मानती हो लेकिन आईआईटी मंडी (IIT Mandi) की स्टडी सरकार के दावे से इत्तेफाक नहीं रखती है. दुबई (Dubai ) और ब्रिटेन (Uk) से आए यात्री भारत में कोविड-19 संक्रमण लाने वाले प्रारंभिक स्रोत रहे हैं.

भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान ((IIT Mandi) द्वारा किये गए विश्लेषण में यह बात सामने आई है. ‘जर्नल ट्रैवल ऑफ मेडिसिन’ में प्रकाशित अध्ययन के अनुसार भारतीय राज्यों में कोविड-19 का आगमन मुख्य रूप से दूसरे देशों से आने वाले यात्रियों से हुआ.

समाचार न्यूज एजेंसी पीटीआई के मुताबिक आईआईटी-मंडी में सहायक प्रोफेसर सरिता आजाद ने बताया, ‘हमने वैश्विक स्तर से राष्ट्रीय स्तर पर कोविड-19 के प्रसार का अध्ययन किया और भारत में संक्रमण फैलने के मुख्य कारणों की पहचान की. रोगियों के यात्रा इतिहास का इस्तेमाल कर पहले चरण में कोविड-19 के प्रसार के बारे में पता लगाया. इस अध्ययन में हमने पाया कि अधिकतर संक्रमण स्थानीय स्तर पर फैला है.’

रिसर्च टीम ने ऐसे लगाया पता

उन्होंने कहा, ‘रिसर्च टीम ने आंकड़ों के प्रारंभिक स्रोत के रूप में रोगियों के जनवरी से अप्रैल तक के यात्रा इतिहास का उपयोग किया और महामारी के प्रारंभिक चरण में प्रसार का चित्रण करता एक सामाजिक नेटवर्क तैयार किया.’ अध्यनन में पाया गया कि अधिकतर संक्रमितों का संबंध दुबई (144) और ब्रिटेन (64) से था.’ सरिता आजाद ने बताया कि अध्ययन में पता चला कि सर्वाधिक 144 संक्रमित का संबंध दुबई और बाकी 64 संक्रमितों का संबंध ब्रिटेन से रहा.’