Tv9bharatvarshEconclave: अम्फान में केंद्र की मदद ऊंट के मुंह में जीरे जितनी- TMC

पश्चिम बंगाल से जुड़े तमाम मुद्दों पर Tv9 Bharatvarsh E-conclave में चर्चा की बंगाल बीजेपी प्रमुख दिलीप घोष और टीएमसी नेता खालिद अब्दुल्लाह, CPI के मोहम्मद सलीम और कांग्रेस से प्रदीप भट्टाचार्य ने.
Tv9bharatvarshEconclave, Tv9bharatvarshEconclave: अम्फान में केंद्र की मदद ऊंट के मुंह में जीरे जितनी- TMC

देशभर में कोरोना अपने पैर पसार रहा था, इसी बीच पश्चिम बंगाल में अम्फान चक्रवात ने भी दस्तक दे दी. इस दोहरी मार से पश्चिम बंगाल में भीषण तबाही मच गई. अम्फान के बाद बंगाल में कोरोना के मामलों में भी बढ़त देखी गई. हालांकि उनपर पहले से ही आंकड़ों को छिपाने का आरोप लगते रहे. पश्चिम बंगाल से जुड़े तमाम मुद्दों पर Tv9 Bharatvarsh E-conclave में चर्चा की बंगाल बीजेपी प्रमुख दिलीप घोष और टीएमसी नेता खालिद अब्दुल्लाह, CPI के मोहम्मद सलीम और कांग्रेस से प्रदीप भट्टाचार्य ने.

दिलीप घोष- अभी आंकड़े सही हुए हैं ऐसा नहीं माना जा सकता. हालांकि अब काफी सुधार जरूर आया है, लेकिन हमें अभी संख्या पर ध्यान देने की जगह संक्रमण पर ध्यान देने की जरूरत है.

खालिद अब्दुल्लाह: एक लाख करोड़ के नुकसान वाले इलाके में सरकार ऊंट के मुंह में जीरे के स्वाद जैसी मदद देकर चले गए. बीजेपी का टारगेट सिर्फ इतना है कि ममता बनर्जी को कैसे भी सरकार से हटाया जाए.

दिलीप घोष- TMC और CPI की लड़ाई कोरोना से नहीं केंद्र से हो गई है. बंगाल में तैयारी की जगह सियासत हो रही है. पिछले साल ओडिशा में चक्रवात आया था तब किसी की मौत नहीं हुई क्योंकि तैयारी पूरी थी. बंगाल में चक्रवात आया तो 80 की मौत हो गई क्योंकि यहां तैयारी की जगह सियासत हुई.

प्रदीप भट्टाचार्य- बीजेपी और TMC दोनों मौजूदा संकट से निपटने की जगह सियासत कर रहे हैं. दोनों सोच रहे हैं कि कैसे पश्चिम बंगाल की सियासत में आया जा सके.

मोहम्मद सलीम- मजदूर सड़क किनारे मारे जा रहे हैं और बीजेपी और TMC कुत्ते बिल्ली की तरह झगड़ रहे हैं, ये गंदी सियासत है.

Related Posts