स्टिंग में खुलासा- मिथिलेश कुमार का दावा, 3 दिन में बंटवा देते हैं 50 हजार रुपये की दारू

‘ऑपरेशन भारतवर्ष’ में समाजवादी पार्टी के पूर्व सांसद मिथिलेश कुमार ने बसपा सुप्रीमो मायावती के बारे में हैरान करने वाले खुलासे किए.
Operation Bharatvarsh, स्टिंग में खुलासा- मिथिलेश कुमार का दावा, 3 दिन में बंटवा देते हैं 50 हजार रुपये की दारू

नई दिल्ली: Tv9 भारतवर्ष ने सबसे बड़ा और सनसनीखेज स्टिंग ऑपरेशन किया है. इस ऑपरेशन के जरिए चुने गए सांसदों की सच्चाई सामने लाई गई है. स्टिंग से पता चला है कि सांसद चुनाव जीतने के लिए किस तरह से कालेधन का इस्तेमाल करते हैं. जनता की नुमाइंदगी करने वाले इन सांसदों ने खुद बताया है कि कैसे उन्होंने लोकतंत्र को नोटतंत्र में बदलकर रख दिया है.

TV 9 भारतवर्ष के ख़ुफ़िया कैमरे में समाजवादी पार्टी के पूर्व सांसद, यूपी के पूर्व पंचायती राज्य मंत्री और अखिलेश यादव की सरकार में मंत्री रह चुके मिथिलेश कुमार कैद हो गए. दिल्ली के एक होटल में सांसद मिथिलेश कुमार से मिलकर TV 9 भारतवर्ष के अंडरकवर रिपोर्टर्स ने अपनी जान-पहचान की कुछ कंपनियों से उन्हें चुनाव के लिए करोड़ों रुपये दिलाने की बात कही. 

‘प्रधान से लेकर विधायत खरीदने पड़ते है’

3 बार MLA रह चुके मिथिलेश कुमार ने चुनाव का खर्च पूछे जाने पर सीधे 15 करोड़ की मांग की. 2009-2014 के बीच एमपी रह चुके मिथिलेश कुमार ने बताया कि इस दौरान 7.50 करोड़ रुपये खर्च हुए थे इसलिए अब खर्चा डबल हो गया है. उन्होंने बताया कि पहले 30 लाख में मीटिंग होती थी अब 50 लाख लगते हैं. मीटिंग से मिथिलेश का मतलब था छोटी-छोटी रैलियों से. पूर्व सांसद मिथिलेश कुमार के मुताबिक प्रधान से लेकर विधायक तक सबको कैश में ब्लैकमनी देकर ख़रीदना पड़ता है, ताकि वोट मिल सकें.

सबसे ज्यादा खर्च किस पर?

चुनाव में सबसे ज्यादा खर्च किस चीज पर होता है, इस सवाल पर मिथिलेश कुमार ने बताया कि गाड़ियों और नेता खरीदने में सबसे ज्यादा खर्च आता है. समाजवादी पार्टी के पूर्व सांसद मिथिलेश कुमार वोटर्स को ख़रीदने के बजाय सीधे क्षेत्रीय नेताओं को ख़रीदने का दावा करते हैं. इसके अलावा जीत पक्की करने के लिए वो काले धन से ख़रीदी गई शराब भी बंटवाते हैं. मिथिलेश कुमार ने बताया कि 50 हजार रुपये की दारू हम 3 दिन में बंटवा देते हैं.

शाहजहांपुर के पूर्व सांसद मिथिलेश कुमार एक बार फिर यहीं से लोकसभा पहुंचने की तैयारी कर रहे हैं. लेकिन, लोकसभा तब पहुंच पाएंगे, जब टिकट मिलेगा और उन्होंने ख़ुफ़िया कैमरे पर कहा कि टिकट ख़रीदने के लिए उन्हें करोड़ों रुपये ब्लैकमनी चाहिए. ये सारा कालाधन वो हवाला के ज़रिए लेने को तैयार हो गए.

 पैसे लेकर संसद में पूछते हैं सवाल

पूर्व सांसद मिथिलेश कुमार सांसद बनने के बाद ब्लैकमनी लेकर लोकसभा में सवाल पूछने के लिए भी तैयार हैं. यानी जो इन्हें करोड़ों का काला धन देगा, उसके लिए मिथिलेश कुमार लोकतांत्रिक व्यवस्थाओं की धज्जियां उड़ाते हुए संसद में मनमाने सवाल पूछने के लिए भी राजी हैं.

 6 करोड़ में मिला शाहजहांपुर का टिकट

मिथिलेश कुमार ने कहा जितना ज़्यादा काला धन मिलेगा, उतने ही ज़्यादा वोटों से जीत पक्की होगी. शाहजहांपुर से इस बार BSP  के टिकट पर चुनाव लड़ने की तैयारी कर रहे मिथिलेश कुमार का दावा है कि उनका टिकट 6 करोड़ रुपये में फाइनल हुआ है. मिथिलेश कुमार ने ये भी बता दिया कि 6 करोड़ में BSP से जो टिकट का सौदा हुआ है, उसके लिए 2 करोड़ रुपये एडवांस मांगे गए हैं.

मायावती से मिलवाने को भी हुए तैयार

अपने दावों की पुष्टि करने के लिए मिथिलेश कुमार ने TV9 भारतवर्ष के रिपोर्टर्स को चुपचाप BSP सुप्रीमो मायावती से भी मिलवाने का दावा किया. उन्होंने बताया कि मायावती को उन्हें 6 करोड़ रुपये देने हैं. उन्होंने बताया कि मायावती किसी से मिलने के लिए भी 10 लाख रुपये लेती हैं.

यह भी पढ़ें- Operation Bharatvarsh: SP नेता ने कहा- गाड़ी से लेकर साड़ी तक, सब पर होते हैं करोड़ों खर्च

यह भी पढ़ें-#OperationBharatvarsh ने खोली BJP सांसद रामदास की पोल, कैश में मांगे करोड़ों

यह भी पढ़ें- लालू को ही गाली देता है उनका सांसद, चुनाव में कराता है शराब की होम डिलीवरी

यह भी पढ़ें- यहां देखिए ‘ऑपरेशन भारतवर्ष’ लगातार

Related Posts