Video: तेजस्वी के दुलारे सरफराज आलम ने क्यों लालू को दी गालियां, किसे दी गोली मारने की धमकी?

लालू के खास रहे तस्लीमुद्दीन के बेटे सरफराज़ आलम ने अपने चुनावी फंड पर हैरतजनक खुलासे तो किए ही साथ में अपने नेता लालू को भी जमकर कोसा. फंडिंग पर लालू के लाड़ले ने क्या कुछ कहा पढ़िए.

नई दिल्ली. TV9 भारतवर्ष के स्टिंग ऑपरेशन में उन सांसदों के सच का खुलासा हो रहा है जिन्होंने लोकतंत्र को ठेंगा दिखाया है. उनके लिए देश का कानून मायने नहीं रखता, ना ही चुनाव आयोग के कायदे. इसी सिलसिले में लालू के खास रहे तस्लीमुद्दीन के बेटे सरफराज़ आलम का नाम भी सामने आया है. सरफराज ने तो काले धन के अलावा अपनी ही पार्टी के नेता लालू यादव को नहीं बख्शा. यही नहीं कैश के हेरफेर में कोई बीच में आया तो उसे गोली मारने की धमकी भी दे डाली.

साल 2000 में बिहार के जोकीहाट से आरजेडी के विधायक बने सरफराज़ 2010 और 2015 में जेडीयू के सहारे विधानसभा पहुंचे लेकिन बाद में पार्टी ने उन्हें निकाल दिया और वो लालू की शरण में लौट आए. लालू की शरण में लाने का काम भी पिछले साल तेजस्वी ने ही कराया था. लोकसभा उपचुनाव से ठीक पहले वो जेडीयू छोड़ आरजेडी में शामिल हुए थे.

2018 में आरजेडी के टिकट पर सरफराज़ ने अररिया लोकसभा का उपचुनाव जीता और अब एक बार फिर 2019 में अररिया से ही आरजेडी के प्रत्याशी बने हैं. टीवी9 भारतवर्ष की अंडरकवर टीम दिल्ली स्थित उनके सरकारी आवास पहुंची और बातचीत की. टीम के लोग फ़र्ज़ी कंपनी के कर्मचारी बनकर पहुंचे थे जिन्होंने बताया कि उनकी कंपनी अररिया में सोलर प्लांट लगवाना चाहती है.

टीम ने ये भी कहा कि इस प्लांट को लगाने में सरफराज़ की मदद चाहिए जिसकी एवज़ में कंपनी चुनाव के वक्त उनकी हर संभव मदद करेगी. अंडरकवर रिपोर्टर्स का मक़सद ये जानना था कि सरफ़राज़ आलम चुनाव में कितना खर्च करने वाले हैं और कालेधन का कितना इस्तेमाल करते हैं . इस सवाल का जवाब सांसद सरफ़राज़ ने बिना हिचके दिया. उन्होंने कहा कि चुनाव में दस-बीस करोड़ रुपए का खर्च होनेवाला है. उपचुनाव में वो 75 करोड़ रुपए खर्चने का दावा तो करते ही हैं, बीजेपी पर भी 80 करोड़ रुपए खर्चने का आरोप लगा रहे हैं.

दरअसल, सांसद सरफ़राज़ करोड़ों का कालाधन लेकर बिहार में शराबबंदी की धज्जियां उड़ाना चाहते हैं. उन्होंने ख़ुफ़िया कैमरे पर ख़ुद ही ये कहा कि चुनाव के दौरान शराब की होम डिलीवरी करवानी पड़ती है. बिहार को शराब के साइड इफेक्ट्स से बचाने के बजाय RJD सांसद अपनी जनता को चुनावी शराब में डुबोना चाहते हैं.

अंडरकवर रिपोर्टर– इस बार सबसे ज़्यादा ख़र्चा जानते हैं क्या होगा? शराब में, एक तो बैन है

सरफ़राज़ आलम, RJD सांसद, अररिया– हां? कहां बंद है भाई?

अन्य व्यक्ति– अब तो और बढ़िया है, होम डिलीवरी होता है

सरफ़राज़ आलम, RJD सांसद, अररिया– जिसका दाम 300 था, अब 600 में मिलता है

अररिया की जनता भी सांसद सरफ़राज़ आलम के ये ख़ुलासे देखकर हैरान हो रही है. बिहार की लाखों महिलाओं ने शराब के ख़िलाफ़ एक लंबी जंग जीती है, लेकिन सरफ़राज़ जैसे सांसद सिर्फ़ अपनी राजनीति की ख़ातिर उन महिलाओं के संघर्ष को क़ुर्बान कर रहे हैं. इतना ही नहीं RJD सांसद सरफ़राज़ आलम ने खुद बताया कि चुनाव में करोड़ों रुपये का कालाधन ख़र्च करने के बावजूद वो चुनाव आयोग की नज़र से कैसे बचते हैं.

अंडरकवर रिपोर्टर– ये सर चुनाव आयोग का जो 70-80 लाख जो भी लिमिट है, कैंडिडेट की बात हो रही है, अगर वो 10 करोड़ 15 करोड़ खर्च कर रहा है तो वो ख़र्चा दिखाता कैसे है?

सरफ़राज़ आलम, RJD सांसद, अररिया– कहां दिखाएगा अब? झंडा रहेगा तब न फोटो खींच के दिखाएगा रजिस्टर पर

अंडरकवर रिपोर्टर– हम्म

सरफ़राज़ आलम, RJD सांसद, अररिया– हम आपको एक टका दिया चुनाव आयोग थोड़े देखा, अरे व्हाइट–ब्लैक खाता से निकालकर जो ओरिजिनल चीज़ है वही न ख़र्चा करेंगे, ठीक बोले आप

अंडरकवर रिपोर्टर– हम्म

सरफ़राज़ आलम, RJD सांसद, अररिया– हम लोग खाते से ख़र्चा करेंगे, इस गाड़ी में तेल देना है खाते के पैसा से नहीं देना है, गाड़ी हमारा 20 चल रहा है हम खाते के पैसा से 10 गाड़ी दिखा रहे हैं, अब समझा

अंडरकवर रिपोर्टर– हम्म

महंगे चुनाव की दुहाई देते सरफराज़ आलम ने जब अंदाज़ा लगा लिया कि कंपनी वाले उन्हें चुनावी फंड खुलकर देंगे तो उन्होंने साम-दाम-दंड-भेद लगाकर कंपनी की मदद करने का वादा कर लिया. यूं तो सरफराज़ आलम लालू के खास हैं लेकिन चुनाव में पार्टी फंड से पैसे न मिलने की बात कहकर वो लालू प्रसाद यादव पर भी खूब भड़के. उन्हें ऐसी-ऐसी गालियां दीं जो लिखी भी नहीं जा सकतीं.

 आगे TV 9 भारतवर्ष के अंडरकवर रिपोर्टर्स ने जब सरफराज़ से पूछा कि इस बार चुनाव के लिए जो करोड़ों का ब्लैकमनी मांग रहे हैं, वो कहां रिसीव करेंगे तो इसका समाधान भी उन्होंने चुटकियों में कर दिया. उन्होंने अररिया में खर्च होने वाले पैसे को दिल्ली में ही डिलिवर करने की इजाज़त दे दी.

यह भी पढ़ें- Operation Bharatvarsh: पूर्व कांग्रेसी सांसद का दावा, 2014 के चुनाव में खर्च किए 15 करोड़

यह भी पढें- Video: ‘घर पर ही रुपए लेती हैं मायावती, तहखाने में रखा जाता है कालाधन’

यह भी पढ़ें- ऑपरेशन भारतवर्ष: नोटबंदी को भूल बताने वाले ये सांसद जी ब्लैकमनी को कमरे में लॉक रखते हैं!

यह भी पढ़ें- 5 करोड़ के बदले सरकारी टेंडर देने को राजी हुईं जयपुर से कांग्रेस उम्‍मीदवार ज्योति खंडेलवाल

यह भी पढ़ें- OperationBharatvarsh: शेर सिंह ने खुद माना, 30 करोड़ खर्च कर सांसद बना