स्‍वरा भास्‍कर को ट्रोल करने की कोशिश में खुद घिर गए ये IPS, लोगों ने खूब सुनाया

स्वरा भास्कर के तबरेज अंसारी की मॉब लिंचिंग को लेकर किए गए ट्वीट पर आईपीएस अधिकारी विपुल अग्रवाल ने ट्वीट किया कि अभिनेत्री का गुस्सा सिलेक्टिव है.
Swara Bhaskar mob lynching, स्‍वरा भास्‍कर को ट्रोल करने की कोशिश में खुद घिर गए ये IPS, लोगों ने खूब सुनाया

नई दिल्ली: अभिनेत्री स्वरा भास्कर को ट्रोल करना अहदाबाद के एडिशनल सीपी को महंगा पड़ गया है. 26 जून को झारखंड में हुई मॉब लिंचिंग के विरोध में दिल्ली में आयोजित होने वाले एक प्रदर्शन को लेकर स्वरा भास्कर ने ट्वीट किया था.

स्वरा भास्कर के इस ट्वीट पर आईपीएस अधिकारी विपुल अग्रवाल ने ट्वीट किया कि स्वरा भास्कर का गुस्सा सिलेक्टिव है.

स्वरा ने ट्वीट किया, “भगवान के नाम पर एक और मॉब लिंचिंग. लिंचिस्तान नहीं बनेंगे. 26 जून, शाम 5 बजे दिल्ली की सड़कों पर उतरें. तबरेज अंसारी के लिए कैंडिल लाइट प्रोटेस्ट.”

इसके बाद स्वरा के इस ट्वीट पर विपुल अग्रवाल ने जवाब दिया, “प्रिय स्वरा भास्कर, आपने फिर से साबित कर दिया कि आपके स्वर केवल कुछ सिलेक्टिव चीजों के लिए ही निकलते हैं.”

विपुल अग्रवाल के इस कमेंट के बाद ट्विटर यूजर्स ने इस आईपीएस अधिकारी को घेर लिया और उनके इस प्रकार के ट्वीट पर उनकी जमकर आलोचना करने लगे.

विपुल अग्रवाल वहीं आईपीएस अधिकारी हैं, जिनपर साल 2005-06 तुलसीराम प्रजापति फर्जी एनकाउंटर में सबूतों को नष्ट करने का आरोप लगा था. साल 2018 में मुंबई कोर्ट से अग्रवाल को बरी कर दिया गया था.

Related Posts