योगी सरकार का फरमान, जबरन रिटायर किए जाएंगे 2 IPS और 17 PPS, DGP ने भेजा प्रस्ताव

मिली जानकारी के मुताबिक, राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने आइपीएस अधिकारी अमिताभ ठाकुर को अनिवार्य सेवानिवृत्ति दिए जाने की मांग पर अपर मुख्य सचिव गृह को पत्र लिखकर नियमानुसार कार्रवाई का निर्देश दिया है.

लखनऊ: उत्तर प्रदेश में दागी और कामचोर पुलिसकर्मियों को अनिवार्य सेवानिवृत्ति दिए जाने के बाद अब पुलिस अधिकारियों पर कार्रवाई की तैयारी शुरू हो गई है. डीजीपी मुख्यालय की तरफ से शासन को प्रस्ताव भेजकर दो आईपीएस और 17 पीपीएस अधिकारियों को रिटायर करने की बात कही गई है.

मिली जानकारी के मुताबिक, राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने आइपीएस अधिकारी अमिताभ ठाकुर को अनिवार्य सेवानिवृत्ति दिए जाने की मांग पर अपर मुख्य सचिव गृह को पत्र लिखकर नियमानुसार कार्रवाई का निर्देश दिया है. आरटीआई एक्टिविस्ट उर्वशी शर्मा ने बीते दिनों राज्यपाल को दिये शिकायती पत्र में आरोप लगाया था कि आईजी सिविल डिफेंस अमिताभ ठाकुर कोर्ट व आरटीआइ के मामलों में बिना अवकाश लिये ड्यूटी के समय उपस्थित होकर उच्च पद व सरकारी संसाधनों का दुरुपयोग करते रहे हैं.

वहीं, डीजीपी मुख्यालय ने 50 वर्ष आयु से अधिक के दो आइपीएस व 17 पीपीएस अधिकारियों को अनिवार्य सेवानिवृत्ति दिए जाने का प्रस्ताव शासन को भेजा है. बता दें कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने नाकारा पुलिसकर्मियों को सेवा से बाहर का रास्ता दिखाने का निर्देश दिया था. पुलिस विभाग में हर जोन स्तर पर स्क्रीनिंग कमेटी बनाकर पुलिसकर्मियों को चिह्नित किया गया.

50 वर्ष से अधिक आयु के 40528 पुलिसकर्मियों की स्क्रीनिंग कराई गई. इस वर्ष अब तक 353 अराजपत्रित पुलिसकर्मियों को अनिवार्य सेवानिवृत्ति दी गई है.