मसाला किंग धनंजय दातार ने किया दुबई में फंसे 3000 भारतीयों की घर वापसी का इंतजाम

दातार को उम्मीद है कि उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) के हस्तक्षेप के चलते मुंबई के लिए वंदे भारत मिशन (Vande Bharat Mission) के तहत जल्द ही उड़ानों की अनुमति दी जाएगी और भारतीय देश वापस लौट सकेंगे.

COVID-19 के चलते दुनियाभर में लागू किए गए लॉकडाउन (Lockdown) में भारतीय प्रवासी (NRI) न केवल देश के भीतर, बल्कि विदेशों में भी फंसे हुए हैं. ऐसे संकट के समय में दुबई में रह रहा एक प्रवासी भारतीय, दूसरे भारतीयों की मदद के लिए आगे आया है. उसने फंसे हुए भारतीयों को मातृभूमि पर वापस भेजने के लिए विमान का खर्च उठाया है. संयुक्त अरब अमीरात (UAE) में रहने वाले 56 साल के ‘मसाला किंग’ धनंजय एम. दातार ने वहां फंसे हुए 3,000 से अधिक लोगों को भारत वापस पहुंचाने का जिम्मा उठाया है.

देखिये फिक्र आपकी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 9 बजे

धनंजय दातार ने फोन पर बताया, “अल्पकालिक वीजा पर आए बहुत से लोग हैं, जो अब तक फंसे हुए हैं. इनमें गर्भवती महिलाएं, बच्चे, पर्यटक शामिल हैं. मैंने 3,000 से अधिक लोगों की घर वापसी के लिए उन्हें केरल, चेन्नई, दिल्ली, हैदराबाद, जयपुर, लखनऊ, गोवा, चंडीगढ़ पहुंचाने का बीड़ा उठाया है.” दुबई में मुंबई और महाराष्ट्र के कई शहरों से आए लगभग 60,000 लोग हैं. दातार ने पिछले हफ्ते मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे से बात की थी और तुरंत पहल करते हुए आपातकालीन निकासी की अनुमति देने के लिए केंद्र सरकार को पत्र लिखा.

दातार को उम्मीद है कि ठाकरे के हस्तक्षेप के चलते मुंबई के लिए वंदे भारत मिशन के तहत जल्द ही उड़ानों की अनुमति दी जाएगी और भारतीय देश वापस लौट सकेंगे. यूएई में प्रतिष्ठित अल-आदिल ट्रेडिंग एलएलसी ग्रुप के प्रमुख, दातार ने अब तक 1,000 से अधिक भारतीयों के टिकट का खर्च उठाया है. जबकि दूसरे लोगों ने जो पहले से ही टिकट बुक किया था या उनके पास वापसी टिकट थे जो अब काम में आए.

देखिये परवाह देश की सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 10 बजे

Related Posts