जो सावरकर को नहीं मानता उसे बीच चौक पर पीटा जाना चाहिए: उद्धव ठाकरे

शिवसेना प्रमुख ने कहा कि राहुल गांधी ने भी सावरकर का अपमान किया था, ऐसी औलादों को आजादी की अहमियत समझ नहीं आती.

दिल्ली विश्वविद्यालय में रातोंरात भगत सिंह और सुभाषचंद्र बोस के साथ बीडी सावरकर की मूर्ति लगाए जाने को लेकर पहले ही छात्रसंगठन आमने-सामने हैं. जब इस संबंध में ही शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे से सवाल किया गया तो उन्होंने कहा, “वीर सावरकर को जो नहीं मानता है, उसे चौक पर पीटा जाना चाहिए. राहुल गांधी ने भी सावरकर का अपमान किया था, ऐसी औलादों को आजादी की अहमियत समझ नहीं आती.”

मालूम हो कि दिल्ली विश्वविद्यालय के नॉर्थ कैंपस में रातोंरात आर्ट्स फैक्टी के गेट पर दिल्ली विश्वविद्याल छात्रसंघ के अध्यक्ष शक्ति सिंह ने भगत सिंह और सुभाष चंद्र बोस के साथ सावरकर की मूर्ति स्थापित करा दी. जिसके बाद NSUI और AISA के छात्रों ने इसका विरोध किया. NSUI के कार्यकर्ताओं ने सावरकर की मूर्ति पर कालिख पोत दी थी.

उनका कहना था कि ABVP भगत सिंह और सुभाषचंद्र बोस की आड़ में सावरकर की विचारधारा फैलाना चाहते हैं. उन्होंने कहा कि DUSU अध्यक्ष ने इसके लिए विश्वविद्यालय प्रशासन से भी इजाजत नहीं ली थी. वहीं ABVP के कार्यकर्ता और छात्रसंघ अध्यक्ष का कहना है कि उन्होंने कई बार प्रशासन से मूर्ति लगाने की इजाजत मांगी थी लेकिन कोई सुनवाई नहीं होने के बाद उन्होंने खुद ये मूर्ति लगवा दी.

ये भी पढ़ें: अगर चीन और हॉन्ग-कॉन्ग बीफ खाना बंद कर दें तो नहीं लगेगी अमेजन के जंगलों में आग!