योगी आदित्‍यनाथ के सीएम बनने की राह में थे कई रोड़े, अमित शाह ने अब जाकर खोला राज, देखें VIDEO

गृहमंत्री अमित शाह ने कहा कि किसी को उम्मीद नहीं थी कि योगी यूपी के सीएम बनेंगे. उन्होंने कहा कि जब सीएम पद के लिए योगी के नाम की घोषणा हुई तो मेरा फोन लगातार बजने लगा.

लखनऊ: उत्तर प्रदेश सरकार की दूसरी ग्राउंड ब्रेकिंग सेरेमनी-2 को संबोधित करते हुए अमित शाह ने एक पुराने किस्से का जिक्र किया. इस किस्से में शाह ने उस बात का खुलासा किया जो काफी लोगों के जेहन में महज सवाल बनकर ही रह गया था.

शाह ने कहा कि किसी को उम्मीद नहीं थी कि योगी यूपी के सीएम बनेंगे. अमित शाह ने कहा कि जब सीएम पद के लिए योगी के नाम की घोषणा हुई तो मेरा फोन लगातार बजने लगा. लोगों ने कहा कि योगी ने तो नगर निगम भी नहीं चलाया है, कभी मंत्री भी नहीं रहे हैं, वो तो एक संन्यासी हैं और उन्हें इतने बड़े राज्य का मुख्यमंत्री बना दिया गया है.

अमित शाह ने यूपी का सीएम चुनने के लिए पार्टी में हुए मंथन को याद करते हुए कहा कि उस वक्त पीएम नरेंद्र मोदी और पार्टी अध्यक्ष के रूप में मेरे मन में सिर्फ एक ही बात चल रही थी. वह यह थी कि एक ऐसा शख्स जो समर्पित हो और कठिन परिश्रम करने की योग्यता रखता हो वो हर परिस्थितियों में अपने आप को ढाल लेगा. इसलिए हमने यूपी के भविष्य को योगी जी के हाथों में दे दिया, उन्होंने इस फैसले को सही साबित किया है.

बीजेपी अध्यक्ष और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने रविवार को गोमतीनगर स्थित इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में आयोजित ग्राउंड ब्रेकिंग सेरेमनी-2 का शुभारंभ किया. इस दौरान राज्यपाल राम नाईक, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, दोनों उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य और डॉ. दिनेश शर्मा भी मौजूद रहे.

और पढ़ें- कर्नाटक: फ्लोर टेस्ट से पहले विधानसभा स्पीकर ने 14 बागी विधायकों को अयोग्य करार दिया

उत्तर प्रदेश में उद्योगों को बढ़ावा देने के लिए रविवार को आयोजित दूसरे ग्राउंड ब्रेकिंग समारोह में देश के गृहमंत्री अमित शाह ने 65 हजार करोड़ की 290 प्रोजेक्ट का शिलान्यास किया. इस मौके पर अमित शाह ने कहा कि देश की अर्थव्यवस्था को 5 ट्रिलियन डॉलर पर ले जाने की बुनियाद हमारी सरकार डाल चुकी है.

शाह ने कहा कि इस कार्यक्रम से 250 परियोजनाओं का शिलान्यास और 65 हजार करोड़ रुपये का इंवेस्टमेंट होने जा रहा है. इतने कम समय पर 25 प्रतिशत से ज्यादा एमओयू को जमीन पर उतारने के लिए मैं राज्य सरकार को बधाई और शुभकामनाएं देता हूं.

अमित शाह के भाषण की मुख्य बातें
1- देश में सबसे सफल इंवेस्टर्स समिट की शुरुआत गुजरात ने की थी। लेकिन ये आश्चर्य की बात है कि उत्तर प्रदेश में भी इतने कम समय में योगी आदित्यनाथ जी ने इसे सफल बनाया है.
2- फरवरी 2018 में जब 4 लाख 68 हजार करोड़ रुपये के निवेश के लगभग 1000 एमओयू हुए थे तब भी मुझे बहुत खुशी हुई थी. आज उत्तर प्रदेश के अंदर विकास की एक नई शुरुआत हुई है, इससे देश के सबसे बड़े प्रदेश में आर्थिक गतिविधियां और रोजगार के अवसर बढ़ेंगे.

3- आज इस कार्यक्रम से 250 परियोजनाओं का शिलान्यास और 65 हजार करोड़ रुपये का इंवेस्टमेंट होने जा रहा है. इतने कम समय पर 25 प्रतिशत से ज्यादा एमओयू को जमीन पर उतारने के लिए मैं राज्य सरकार को बधाई और शुभकामनाएं देता हूं.

4- आज देश में आयकर भरने वालों की संख्या में भारी बढ़ोतरी हुई है, क्योंकि जब आय बढ़ती है और क्षमता बढ़ती है तभी तो लोग टैक्स भरते हैं. पहले 3 करोड़ 80 लाख लोग इनकम टैक्स भरते थे, लेकिन आज 6 करोड़ 70 लाख लोग इनकम टैक्स भरते हैं.

5- दुनिया का सबसे बड़ा टैक्स रिफॉर्म, जीएसटी आज हमारे देश में सुचारु रूप से चल रहा है. जब हम जीएसटी का बिल लाए तो दुनिया भर के लोग कहते थे कि भारत में ये सफल कैसे हो पाएगा. आज मोदी जी के नेतृत्व में पूरे देश में जीएसटी पूरी सफलता के साथ लागू किया जा रहा है.

6- सिर्फ 5 साल के अंदर हम विश्व बैंक की ‘ईज ऑफ़ डुइंग बिजनेस’ तालिका में 142वें स्थान से 77वें स्थान पर पहुंच गए हैं. बिजली उत्पादन में हम 99वें स्थान पर थे, लेकिन अब 26वें स्थान पर आ चुके हैं.

7- आज 17 नए मेडिकल कॉलेज उत्तर प्रदेश में बनाने का काम हमने कर दिया है और 15 का काम पाइप लाइन में है.

और पढ़ें- मां-बेटे, भाई-बहन का किस सही तो आजम खान का बयान गलत क्यों: जीतन राम मांझी

8- पिछली सरकारों में देश को सबसे बड़ा प्रदेश, सबसे ज्यादा आबादी वाला प्रदेश, सबसे ज्यादा संसाधनों वाला प्रदेश, सबसे ज्यादा पानी की उपलब्धता वाला प्रदेश और सबसे ज्यादा क्षमता वाला प्रदेश बुरी तहर से बिखरा पड़ा था.

9- 2017 में जनता ने भाजपा की सरकार बनाने का मौका दिया और योगी जी के मुख्यमंत्री बनने के बाद उत्तर प्रदेश में ढेर सारे परिवर्तन हुए हैं.
उत्तर प्रदेश के लगभग 20 जिलों में डेयरी बनाने की प्रक्रिया भी योगी जी की भाजपा सरकार ने शुरू की.

10- औद्योगिक क्षेत्र में उत्तर प्रदेश में कई सारे काम हुए हैं, लेकिन एक जिला-एक उत्पाद की योजना सबसे बेहतर योजनाओं में से एक है. यहां परंपरागत रूप से कई उद्योग पहले से विद्यमान थे. हमारी सरकार ने एक साल के अंदर 80 जिलों के 1-1 उद्योगों को सभी सुविधाएं दी.

11- उत्तर प्रदेश सरकार की कार्ययोजना ऐसी है कि पांच साल के बाद प्रदेश इंफ्रास्ट्रक्चर के मामले में देश का नंबर एक राज्य बनेगा.

12- 13वें वित्त आयोग के अंतर्गत उस समय की केंद्र सरकार द्वारा उत्तर प्रदेश को अलग-अलग मदों में मात्र 3 लाख 30 हजार करोड़ रुपये की धनराशि दी गयी, लेकिन 14वें वित्त आयोग के अंतर्गत मोदी जी की सरकार ने 8 लाख 80 हजार 612 करोड़ रुपये उत्तर प्रदेश के विकास के लिए दिए.

13- एक पुरानी युक्ति है कि देश का प्रधानमंत्री बनना है तो उसका रास्ता लखनऊ से होकर जाता है. मैं आज कहना चाहता हूं कि देश को 5 ट्रिलियन डालर की अर्थव्यवस्था बनाने का रास्ता भी लखनऊ होकर ही जाता है.