CRPF जवानों के लिए खुशखबरी, अब होगा कैडर रिव्यू, इंस्पेक्टर के पद तक पहुंच सकेगा सिपाही

सीआरपीएफ में पिछले काफी समय से पदोन्नति को लेकर सामान्य ड्यूटी वाले सिपाही से लेकर इंस्पेक्टर तक में स्थिरता महसूस की जा रही थी.

केंद्रीय गृह मंत्रालय ने सेंट्रल रिजर्व पुलिस फोर्स (CRPF) की कैडर रिव्यू पॉलिसी को मंजूरी दे दी है. इससे सिपाही से लेकर इंस्पेक्टर तक ‘बी एंड सी’ के पदों पर तैनात करीब 2.37 लाख कर्मी लाभान्वित होंगे. इस पॉलिसी से नए पद सृजित होने से अगले पद पर जाने का मौका मिलेगा. साथ ही प्रमोशन मिलने के समय में अब 3 से 5 साल की कमी आ जाएगी.

SI (GD) पदों की संख्या हुई दोगुनी
गृह मंत्रालय ने सीआरपीएफ के प्रस्ताव को 17 सितंबर को मंजूरी दी. इसमें सूबेदार मेजर/ इंस्पेक्टर (जीडी) के स्वीकृत पदों की संख्या को 91 फीसदी तक बढ़ाकर 6271 तक कर दिया गया है, जबकि एसआई (जीडी) पदों की संख्या दोगुनी कर 17403 की गई है.

सीआरपीएफ में पिछले काफी समय से पदोन्नति को लेकर सामान्य ड्यूटी वाले सिपाही से लेकर इंस्पेक्टर तक में स्थिरता महसूस की जा रही थी. पदोन्नति के लिए इन्हें लंबा इंतजार करना पड़ता था. अब नई पॉलिसी लागू होने के बाद एएसआई सामान्य डयूटी के पदों पर तैनात कर्मियों के 34 फीसदी अवसर बढ़ जाएंगे.

हवलदारों का 40% अधिक प्रमोशन
इसी तरह हवलदारों का भी 40 फीसदी अधिक प्रमोशन होगा. इस पॉलिसी के लागू होने से जब ये लोग ऊपर के पदों पर जाएंगे, तो इन्हें जिम्मेदारी का अहसास होगा. सिपाही को भी इस बात का भरोसा होगा कि वह जल्द ही इंस्पेक्टर तक के पद पर पहुंच जाएगा.

ऐसा माना जा रहा है कि इस फैसले से कार्य कुशलता बढ़ोत्तरी होगी. साथ ही बड़ी जिम्मेदारियां आने और पे स्केल बढ़ने से अधिकारी मोटिवेट भी होंगे. इसके अलावा इस कदम से अधिकारी फिट रहने के लिए भी मोटिवेट होंगे.

ये भी पढ़ें-

PM मोदी के जन्मदिन पर असम के वित्त मंत्री ने नहीं काटा केक, CM सोनोवाल को भी नहीं काटने दिया, जानिए वजह

जाकिर नाइक को भारत वापस लाने की प्रक्रिया में जुटी है सरकार: विदेश मंत्री

बिना हेलमेट बाइक चलाना इस शख्स की मजबूरी, पुलिस भी नहीं काट पाती चालान