उन्नाव: पीड़िता के साथ दिसंबर में हुआ था गैंगरेप, मार्च में दर्ज कराई FIR, पढ़ें पूरा मामला

पीड़िता के मुताबिक आरोपी ने उसे शादी का झांसा देकर रायबरेली में रेप किया और रेप का वीडियो भी बनाया. इसके बाद धमकी देकर लड़की के साथ कई बार रेप किया गया.

हैदराबाद में वैटरनरी डॉक्टर के साथ हुई रेप की घटना के प्रति लोगों का आक्रोश अभी कम हुआ नहीं था कि उत्तर प्रदेश के उन्नाव जिले से भी दिल दहला देने वाली ऐसी ही घटना सामने आई. उन्नाव में 20 वर्षीय गैंगरेप पीड़िता का पेट्रोल छिड़क कर उसे आग के हवाले कर दिया गया. हालांकि पीड़िता किसी तरह अस्पताल पहुंची, जहां डॉक्टर्स ने बताया कि उसका 90 प्रतिशत शरीर जल चुका है.

उसकी हालत इतनी गंभीर थी कि लखनऊ के डॉक्टर्स ने उसे एयर एंबुलेंस के जरिए दिल्ली के सफदरजंग शिफ्ट करने का फैसला लिया. पीड़िता को दिल्ली ले जाने के लिए पहले तो अस्पताल से लखनऊ एयरपोर्ट तक ग्रीन कॉरिडोर बनाया गया. फिर एयर एंबुलेंस के जरिए दिल्ली एयरपोर्ट लाया गया. जहां से महज 18 मिनट में 13 किलोमीटर का सफर तय कर पीड़िता को सफदरजंग हॉस्पिटल पहुंचाया गया.

कोर्ट में गैंगरेप की सुनवाई के लिए जा रही थी पीड़िता

मामला पिछले साल दिसंबर का है. उन्नाव के बिहार थाने के हिंदूनगर गांव के रहने वाले शिवम त्रिवेदी और शुभम त्रिवेदी ने 12 दिसंबर, 2018 को गांव की ही रहने वाली पीडिता के साथ गैंगरेप किया था. इस मामले की एफआईआर रायबरेली लालगंज थाना में दर्ज है. पीड़िता के मुताबिक आरोपी ने उसे शादी का झांसा देकर रायबरेली में रेप किया और रेप का वीडियो भी बनाया.

इसके बाद धमकी देकर लड़की के साथ कई बार रेप किया गया. पीड़िता के मुताबिक आरोपी ने उसे कमरे में कैद कर रखा था और बाहर निकलने पर जान से मारने की धमकी देता था. पीड़िता जब शादी के लिए दबाव बनाने लगी, तो आरोपी ने शादी से इनकार करते हुए उसे उसके गांव जाकर छोड़ दिया.

घटना के 3 माह बाद जाकर मार्च 2019 में पुलिस ने गैंगरेप की शिकायत दर्ज की थी. और आज जब उसी केस की तारीख के लिए पीड़िता रायबरेली कोर्ट जा रही थी, तो आरोपियों ने उसे रास्ते में घेरकर ना सिर्फ मारने की कोशिश की, बल्कि जिंदा जलाने की भी कोशिश की.

प्रत्यक्षदर्शियों की मानें तो 90 प्रतिशत जल जाने के बाद भी पीड़िता खुद लगभग एक किलोमीटर पैदल चली थी. जिसके बाद उसकी मदद के लिए लोग आए और मौके पर पहुंची पुलिस ने उसे जिला अस्पताल में भर्ती कराया, जहां से उसे लखनऊ भेज दिया गया. यहां पीड़िता ने अपना बयान मजिस्ट्रेट के सामने दर्ज कराया. पीड़िता ने 5 आरोपियों के नाम लेकर बताया कि उन्हीं पांचों लोगों ने उसे चाकू मारा और फिर आग के हवाले कर दिया.

ये भी पढ़ें-

सफदरजंग पहुंची उन्नाव गैंग रेप पीड़िता, महज 18 मिनट में तय किया 13 किलोमीटर का सफर

उन्नाव केस: जलने के बाद 1 किलोमीटर तक पैदल चली पीड़िता, खुद किया पुलिस को फोन

Unnao Updates: महिला आयोग ने रेपिस्टों की मांगी लिस्ट, उपराष्ट्रपति ने चीफ सेक्रेटरी को लगाया फोन