पीड़ित पत्रकार की जुबानी सुनिए यूपी में ‘गुंडा रेलवे पुलिस’ की कहानी

घटना की जानकारी मिलने पर कई पत्रकार थाने पहुंचे और सोशल मीडिया पर अमित शर्मा की पिटाई का वीडियो फुटेज डाल दिया. पत्रकारों ने पुलिस मुख्यालय में वरिष्ठ अधिकारियों से भी संपर्क किया.

नई दिल्ली: सरकारी रेलवे पुलिस (जीआरपी) के जवानों ने बुधवार तड़के धीमनपुरा के पास ट्रेन के पटरी से उतरने की खबर कवर कर रहे एक पत्रकार की पिटाई कर दी. एक निजी चैनल के पत्रकार अमित शर्मा के साथ मौके पर मौजूद जीआरपी के जवानों ने दुर्व्यवहार किया, मारपीट की और उनका कैमरा छीन लिया.

पत्रकार ने कहा कि पुलिस ने उसकी बात नहीं सुनी और उसे पीटते रहे. शर्मा ने कहा, “मुझे बंद कर दिया गया, मेरे कपड़े उतार दिया और उन्होंने मेरे मुंह पर पेशाब किया.”

सबसे पहले मारपीट वाले इस वीडियो को देखते हैं. इस वीडियो में सादी वर्दी में कुछ जीआरपी वाले दिख रहे हैं जो पत्रकार की पिटाई कर रहे हैं.

पत्रकार कहता रहता है, ‘यार मार क्यों रहा है.. एक बात तो बता…सुन भाई.. मार क्यों रहा है.. मत मार.. छोड़ दे.. तू कौन है मारने वाला..तू सिखाएगा हमें… एक मिनट रुक जाओ… ‘
उसके बाद रेलवे पुलिस मोबाइल पर हाथ मारती है.. बचाव में पत्रकार कहता है, ‘ओह मोबाइल पर.. मोबाइल पर हाथ क्यों…’

बाद में पत्रकारों से बात करते हुए अमित शर्मा ने कहा, ‘उसी मोबाइल के अंदर जिस पर हाथ मारा था.. उसी में सारे कवरेज हैं.. रेलवे की जो मैं कर रहा था.. उसी मोबाइल को इन लोगों ने गुम कर दिया है… कवरेज करते हुए मेरी पिटाई हुई..’

पत्रकार ने मारपीट करने वालों के बारे में बताते हुए कहा, ‘बहुत सारे पुलिसकर्मी थे.. एक दो लड़के सिविल ड्रेस के थे.. जो बिना ड्रेस के थे..उन्होंने मेरे साथ मारपीट की.. वे पीटते-पीटते यहां ले आए.. घटना लगभग 200 मीटर दूर हुई थी.. वहां से लेकर यहां तक वो मुझे मां-बहन की गाली देते हुए ले आए और अंदर कस्टडी में बंद कर दिया…’

पत्रकार ने आगे बताया, ‘उन्होंने मेरे मुंह में टॉयलेट किया है.. जीआपी एसओ ने मेरे कपड़े निकलवा रखे थे सारे… मुझे नंगा किया.. उसके बाद मेरे मुंह में टॉयलेट किया…’

पत्रकार को बाद में छोड़ दिया गया.

फ़िलहाल स्टेशन हाउस अधिकारी राकेश कुमार और जीआरपी कांस्टेबल सुनील कुमार को निलंबित कर दिया गया है और घटना की जांच का आदेश दिया गया है.

शामली के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अजय कुमार पांडे ने कहा कि वरिष्ठ अधिकारियों को इस घटना से अवगत कराया गया है, जो ‘दुर्भाग्यपूर्ण’ थी और आरोपियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी.

वहीं उत्तर प्रदेश के पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) ओमप्रकाश सिंह ने शामली में पत्रकार की पिटाई मामले में एक्शन लेते हुए जीआरपी इंस्पेक्टर राकेश कुमार को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है. साथ ही डीजीपी ने पुलिस अधीक्षक जीआरपी मुरादाबाद को मौके पर पहुंचने के निर्देश देते हुए 24 घंटे में रिपोर्ट देने को कहा है.