शोषण का वीडियो वायरल होने के बाद लड़की हुई गायब, पूर्व गृह राज्य मंत्री स्वामी चिन्मयानंद पर FIR दर्ज

सोशल मीडिया पर वायरल हुए वीडियो में लड़की रो-रोकर आपबीती सुना रही है. लड़की पूर्व गृह राज्य मंत्री स्वामी चिन्मयानंद (Swami Chinmayanand) के लॉ कॉलेज की ही छात्रा का है.

लखनऊ: सोशल मीडिया में शोषण के आरोप संबंधी वीडियो पोस्ट करने वाली 23 वर्षीय छात्रा शनिवार से गायब है. इसे लेकर भाजपा के पूर्व सांसद स्वामी चिन्मयानंद के खिलाफ आपराधिक धमकी का मामला दर्ज किया गया है.

सोशल मीडिया पर वायरल हुए वीडियो में लड़की रो-रोकर आपबीती सुना रही है. लड़की पूर्व गृह राज्य मंत्री स्वामी चिन्मयानंद (Swami Chinmayanand) के लॉ कॉलेज की ही छात्रा का है. वीडियो में वह रो-रोकर इल्जाम लगा रही है कि ‘संत समाज के एक बहुत बड़े नेता’ ने कई लड़कियों की जिंदगी बर्बाद की है और अब उसकी हत्या करना चाहते हैं. इसके बाद से लड़की गायब है.

लड़की के पिता ने पुलिस को दी तहरीर में चिन्मयानंद पर शारीरिक शोषण का इल्जाम लगाया है. हालांकि पूर्व बीजेपी सांसद स्वामी चिन्मयानंद के प्रवक्ता का कहना है कि इल्जाम झूठें हैं और यह उन्हें बदनाम करने की साजिश है.

वायरल वीडियो में लड़की ने आरोप लगाया, ‘संत समाज के एक बहुत बड़ा नेता जो कि बहुत लड़कियों की जिंदगी बर्बाद कर चुका है और मुझे भी जान से मारने की धमकी देता है. मेरा मोदी जी और योगी जी से अनुरोध है कि वह प्लीज मेरी मदद करें. उसने मेरे परिवार तक को मारने की धमकी दी है. लेकिन मेरे पास उसके खिलाफ सारे सबूत हैं. आप लोगों से आग्रह है कि प्लीज मुझे इंसाफ दिलाइये.’


स्वामी चिन्मयानंद (Swami Chinmayanand) एनडीए सरकार में गृह राज्य मंत्री रह चुके हैं और राम मंदिर आंदोलन के बड़े नेता रहे हैं. शाहजहांपुर में उनका आश्रम भी है और वह यहां एक लॉ कॉलेज भी चलाते हैं. हालांकि उनके प्रवक्ता आरोपों से इनकार करते हैं. स्वामी चिन्मयानंद के वकील और प्रवक्ता ओम सिंह ने कहा, ‘जो लड़की जिसके हाथ में मोबाइल है. मोबाइल चलाने के लिए स्वतंत्रता है. गाड़ी में घुमने के लिए स्वतंत्रता है, तो वह किडनैप कैसे हो सकती है? उसकी जान को खतरा कैसे हो सकता है? ये पूरी तरह से स्वामी जी और संस्थान को बदनाम करने के लिए षड्यंत्र रचा जा रहा है.

लड़की की मां ने कहा, “मेरी बेटी रक्षा बंधन पर घर आई. मैंने उससे पूछा कि उसका फोन इतनी बार बंद क्यों रहा. उसने कहा, ‘अगर मेरा फोन लंबे समय तक बंद हो जाता है तो समझ लें कि मैं मुसीबत में हूं. मेरा फोन तभी बंद हो सकता है, जब यह मेरे हाथ में नहीं होगा.’ मेरी लड़की बहुत दर्द और परेशानी से गुजर रही है, लेकिन उसने कोई भेद नहीं खोला है. उसने बताया कि उसे उसके कॉलेज प्रशासन द्वारा नैनीताल भेजा जा रहा है.”

उधर, चिन्मयानंद के वकील ने एक एफआईआर दर्ज कराई है, जिसमें आरोप लगाया गया है कि कोई चिन्मयानंद के नंबर पर व्हाट्सऐप कर उन्हें ब्लैकमेल करने की कोशिश कर रहा है. उनके वकील ओम सिंह ने कहा कि ‘उस मैसेज में साफ-साफ लिखा हुआ था कि अगर आपने शाम तक 5 करोड़ रुपये मुझे उपलब्ध नहीं कराए तो मैं आपके खिलाफ वीडियो वायरल करूंगा और समाज में आपको बदनाम करूंगा. साथ में धमकी यह भी थी कि अगर किसी प्रकार की चालाकी की तो मेरा कुछ नहीं होगा, समाज में इज्जत आपकी जाएगी.’

इस मामले में पुलिस का कहना है कि वो जांच कर रही है. शाहजहांपुर के एसएसपी शिवासिम्पी चनप्पा ने कहा, ‘एक नंबर पर रंगदारी मांगने का जो धमकी आया था, उसमें आश्रम का जो कार्य देखता है उनकी तरफ से मुकदमा दर्ज हुआ है. इस संबंध में टीम गठित कर कार्रवाई की जा रही है. इसमें हमारी टीम लगी हुई है और वीडियो के बारे में हर पहलुओं के बारे में हमारी टीम गठित कर जांच की जा रही है.’