भारत को अमेरिका दे सकता है F-35 फायटर जेट लेकिन माननी होगी ये शर्त

अत्याधुनिक लड़ाकू विमान F-35 अब भारतीय वायुसेना का हिस्सा भी हो सकता है, लेकिन उसके लिए भारत के सामने कुछ शर्तें हैं.

भारत- रूस के बीच अगर S-400 एयर डिफेंस सिस्टम डील रद्द हो गई तो ऐसी सूरत में अमेरिका भारतीय वायुसेना और नौसेना को F-35 फाइटर जेट दे सकता है. दरअसल रूस के साथ भारत की डील को लेकर अमेरिका बहुत फिक्रमंद है. वो भारत पर दबाव बना रहा है कि पिछले साल अक्टूबर में साइन की गई डील को रद्द कर दे.

तुर्की पर भी अमेरिका ने S-400 एयर डिफेंस सिस्टम को लेकर ऐसा ही दबाव कायम किया था. जानकारी मिली है कि अमेरिकी अधिकारी जल्द भी भारत का दौरा कर सकते हैं. उनके साथ एविएशन इंडस्ट्री के कुछ दिग्गज भी होंगे. रक्षा मंत्रालय को भारतीय वायुसेना के लिए 110 फाइटर जेट की खरीद भी करनी हैं. नौसेना को भी 57 लड़ाकू विमान खरीदने हैं.

F-35, भारत को अमेरिका दे सकता है F-35 फायटर जेट लेकिन माननी होगी ये शर्त

F-35 की खरीद के लिए भारत ने ना तो आधिकारिक निवेदन किया है और ना अमेरिका ने आधिकारिक तौर पर प्रस्ताव दिया है. ऐसे में इस एयरक्राफ्ट को एकमात्र ऐसे एयर प्लेटफॉर्म के तौर पर पेश किया जा सकता है जो S-400 एयर डिफेंस सिस्टम को मात देने के लिए अपग्रेड किया जा सकता है.

अमेरिका का कहना है कि वो अपने आधुनिक लड़ाकू एयरक्राफ्ट को वहां उड़ने नहीं देगा जहां S-400 एयर डिफेंस सिस्टम सक्रिय है. भारत को S-400 की डील से दूर करने के लिए अमेरिका ने नेशनल एडवांस्ड सरफेस-टु-एयर मिसाइल सिस्टम की पेशकश की है. इसके साथ ही अमेरिका के साथ कुछ अन्य डिफेंस सिस्टम के लिए भी बातचीत चल रही है मगर वो  S-400 एयर डिफेंस सिस्टम से महंगे हैं.