राज्यसभा चेयरमैन वेंकैया नायडू को नहीं पता था, क्या है तूफान बुलबुल?

पश्चिम बंगाल में चक्रवात ‘बुलबुल'(Bulbul Cyclone ) ने भयंकर तबाही मचायी है. इससे 23,811 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ है और तीन जिलों में लगभग 35 लाख लोग प्रभावित हुए.

हाल ही में राज्यसभा में दो TMC सांसद तूफान बुलबुल को लेकर बात कर रहे थे. दोनों की बात पूरी होते ही राज्यसभा चेयरमैन वेंकैया नायडू ने सवाल पूछा कि आखिर ये बुलबुल है क्या? उनके इस सवाल कुछ लोग अचंभित रह गए तो कुछ लोगों को हंसी आ गई.

इसके बाद सांसदों ने वेंकैया नायडू को बताया कि ‘बुलबुल’ पश्चिम बंगाल में तबाही मचाने वाले तूफान का नाम है.

करीब 11:24 बजे राज्यसभा में नदीम उल हक ने सदन सामने अपनी रखते हुए इस बात का जिक्र किया कि कैसे तूफान बुलबुल ने तबाही मचाई और इसके लिए क्या-क्या राहत कार्य किए गए. उनके बाद मानस रंजन भूनिया ने भी तूफान को लेकर चर्चा की. मगर इस दौरान चेयरमैन वेंकैया नायडू को ये समझ में नहीं आया कि बुलबुल क्या है.

गौरतलब है कि पश्चिम बंगाल में चक्रवात ‘बुलबुल'(Bulbul Cyclone ) ने भयंकर तबाही मचायी है. इससे 23,811 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ है और तीन जिलों में लगभग 35 लाख लोग प्रभावित हुए. एक वरिष्ठ अधिकारी ने रिपोर्ट के हवाले से कहा, “राज्य को बुलबुल चक्रवात से प्रभावित तीन जिलों में कुल 23,811 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ है, जहां 35 लाख लोग सीधे तौर पर प्रभावित हुए हैं. चक्रवात में 5,17,535 घर तबाह हो गए.”