‘बाबर जैसे हमलावरों के नाम पर नहीं बनने देंगे मस्जिद’, सुन्नी वक्फ बोर्ड को VHP ने दिलाई 2010 की याद

विश्व हिंदू परिषद (VHP) ने सुन्नी वक्फ बोर्ड को 2010 में हुए हरिद्वार कुंभ के संत सम्मेलन का प्रस्ताव याद दिलाते हुए कहा कि संगठन कभी देश में किसी विदेशी आक्रमणकारियों की निशानी बनने भी नहीं देगा.

सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर अयोध्या में मिली 5 एकड़ जमीन पर सुन्नी वक्फ बोर्ड ने बाबरी नाम से किसी मस्जिद के निर्माण की बात को खारिज कर दिया है. इस बीच विश्व हिंदू परिषद (VHP) ने सुन्नी वक्फ बोर्ड को 2010 में हुए हरिद्वार कुंभ के संत सम्मेलन का प्रस्ताव याद दिलाते हुए कहा कि संगठन कभी देश में किसी विदेशी आक्रमणकारियों की निशानी बनने भी नहीं देगा.

देखिए NewsTop9 टीवी 9 भारतवर्ष पर रोज सुबह शाम 7 बजे

विहिप के राष्ट्रीय प्रवक्ता विनोद बंसल ने कहा, “हरिद्वार में 2010 के कुंभ के दौरान हुए संत सम्मेलन में जारी प्रस्ताव में कहा गया था कि देश में किसी भी स्थान पर बाबरी नाम से कोई मस्जिद नहीं बनने दी जाएगी. अयोध्या का आंदोलन सिर्फ राम मंदिर तक सीमित नहीं था, बल्कि यह बाबरवादी सोच और विदेशी आक्रमणकारियों की निशानियों के खिलाफ जंग थी. सुन्नी वक्फ बोर्ड का फैसला सही है, लेकिन याद रखें कि संगठन किसी विदेशी आक्रमणकारी के नाम पर निर्माण बर्दाश्त नहीं करेगा.”

सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर अयोध्या के पास रौनाही के धन्नीपुर गांव में मस्जिद के लिए सुन्नी सेंट्रल वक्फ बोर्ड को पांच एकड़ जमीन मिली है. हाल ही में सोशल मीडिया पर चर्चा उड़ी कि यहां पर बाबर के नाम से नई मस्जिद बनाने की तैयारी है. हालांकि सुन्नी वक्फ बोर्ड की ओर से गठित ट्रस्ट इंडो इस्लामिक कल्चरल फाउंडेशन ने बाबर के नाम से मस्जिद बनने की बातों को अफवाह करार दिया है.

देखिये #अड़ी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर शाम 6 बजे

Related Posts