• Home  »  अभी अभीटॉपदेश   »   2+2 डायलॉग से पहले अमेरिका जाएंगे भारतीय सेना के वाइस चीफ, सैन्य साझेदारी बढ़ाने पर होगा जोर

2+2 डायलॉग से पहले अमेरिका जाएंगे भारतीय सेना के वाइस चीफ, सैन्य साझेदारी बढ़ाने पर होगा जोर

इस यात्रा से दोनों देशों की सेनाओं के बीच ऑपरेशनल और रणनीतिक साझेदारी को मजबूत करने में मदद मिलेगी. भारत और अमेरिका के इस सहयोग को काफी मजबूत बताया जा रहा है.

  • TV9 Hindi
  • Publish Date - 3:54 pm, Fri, 16 October 20
भारतीय सेना के वाइस चीफ लेफ्टिनेंट जनरल एसके सैनी

भारत और अमेरिका के विदेश और रक्षा मंत्रियों की प्रस्तावित बैठक (2+2 डायलॉग) से पहले भारतीय सेना के वाइस चीफ हवाई स्थित इंडो पैसिफिक कमांड की यात्रा करेंगे और दोनों देशों के बीच सैन्य संबंधों को बढ़ाने पर जोर देंगे. लेफ्टिनेंट जनरल एसके सैनी भारतीय सेना के वाइस चीफ हैं. सैनी 17 से 20 अक्टबर के बीच अमेरिका जाएंगे.

अक्टूबर 26-27 को नई दिल्ली में 2+2 डायलॉग होने की संभावना है, जिसमें शामिल होने के लिए अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्पियो और रक्षा मंत्री मार्क एस्पर भारत आ सकते हैं. ऐसे में हिंदुस्तान टाइम्स की एक रिपोर्ट के मुताबिक, “भारतीय सेना के वाइस चीफ अमेरिकी सेना के पैसिफिक कमांड (USARPRAC) का दौरा करेंगे और अमेरिकी सैन्य नेतृत्व के साथ बातचीत करेंगे.”

दोनों देशों के बीच बढ़ेगी साझेदारी

सूत्रों के मुताबिक “वाइस चीफ अमेरिकी सेना की प्रशिक्षण और उपकरण क्षमताओं को भी देखेंगे. इस यात्रा का उद्देश्य दोनों सेनाओं के बीच सैन्य सहयोग को बढ़ाना है.” सैनी हवाई में इंडो-पैसिफिक कमांड मुख्यालय भी जाएंगे, जहां सैन्य सहयोग के अलग-अलग पहलुओं और सेना के सेना से संबंधों को आगे बढ़ाने, अमेरिका से खरीद, ट्रेनिंग, जॉइंट ऑपरेशन पर चर्चा की जाएगी.

ब्राजील: छापेमारी में राष्ट्रपति के सहयोगी के पास से 3.8 लाख रुपये जब्त, रोड्रिग्स ने कपड़ों में छिपाए थे नोट

इस यात्रा से दोनों देशों की सेनाओं के बीच ऑपरेशनल और रणनीतिक साझेदारी को मजबूत करने में मदद मिलेगी. भारत और अमेरिका के इस सहयोग को काफी मजबूत बताया जा रहा है. इसी का एक उदाहरण है कि भारत कोविड-19 महामारी से संबंधित प्रतिबंधों के बावजूद अमेरिका के साथ दो संयुक्त अभ्यासों में भागीदारी कर रहा है.

ये अभ्यास हैं युद्ध अभ्यास और वज्र प्रहार. जो कि फरवरी 2021 और मार्च 2021 में होंगे. वाइस चीफ की यात्रा और 2+2 मंत्री स्तरीय डायलॉग, दोनों के लिए मुख्य बिंदु इंडो पैसिफिक में स्वतंत्र और खुला माहौल सुनिश्चित करने का होगा.

क्या है इंडो पैसिफिक कमांड

इंडो पैसिफिक कमांड अमेरिकी सेना की सबसे बड़ी एकीकृत कमांड है जो 260 मिलियन वर्ग किमी के क्षेत्र को कवर करती है. इसका नाम 2018 में दक्षिण एशिया और विशेष रूप से भारत के साथ अमेरिकी रणनीतिक हितों की रक्षा करने के लिए पैसिफिक कमांड से इंडो-पैसिफिक कमांड में बदल दिया गया था.

US Election: ट्रंप का कैंपेन अकाउंट अस्थाई रूप से बंद, ट्वीट की थी बाइडेन के बेटे की ‘निजी जानकारी’