बिहार के बालिका सुधार गृह से फरार हुईं मुजफ्फरपुर शेल्टर कांड की पीड़ित लड़कियां, मचा हड़कंप

इस खबर ने प्रशासनिक महकमे में हड़कंप मचा दिया है और फरार लड़कियों की तलाश में छापेमारी की जा रही है, लेकिन अभी तक फरार लड़कियों का कोई पता नहीं चला है.

पटना: बिहार के बालिका सुधार गृह से सात लड़कियां फरार हो गई हैं. यह बालिका सुधार गृह मोकामा के नाजरथ अस्पताल चला रहा है. जो सात लड़कियां भागी हैं, उनमें से पांच मुजफ्फरपुर कांड की पीड़िताएं हैं. इस खबर ने प्रशासनिक महकमे में हड़कंप मचा दिया है और फरार लड़कियों की तलाश में छापेमारी की जा रही है, लेकिन अभी तक फरार लड़कियों का  पता नहीं चला है.

पहली नजर में यह नाजरथ सोसायटी (एनजीओ) की लापरवाही का मामला मालूम पड़ता है. बताया जा रहा है कि लड़कियां ग्रिल काटकर फरार हुई हैं. यह भी पता चला है कि बालिका गृह में तैनात सुरक्षाकर्मी बाहरी लोगों के प्रति काफी सख्ती बरतते थे और पुलिस प्रशासन के अधिकारियों को भी बालिका गृह में नहीं जाने दिया जाता था. पुलिस अफसरों ने बालिका गृह में निरीक्षण के लिए कई बार जाने का प्रयास किया, लेकिन उन्हें सफलता नहीं मिली. क्योंकि बालिका गृह को संचालित करने वाला एनजीओ इसमें सहयोग नहीं दे रहा  था.

मुजफ्फरपुर शेल्टर कांड की पहली सुनवाई आज

वहीं, मुजफ्फरपुर शेल्टर होम मामले में शनिवार को दिल्ली साकेत कोर्ट में पहली सुनवाई होनी है. इसके लिए बिहार से सभी आरोपियों को दिल्ली भेजा गया है. ये सभी आरोपी आज साकेत में पॉक्सो कोर्ट के पेश होंगे. टाटा संस्थान की एक रिपोर्ट में बिहार के बालिका गृहकांड का खुलासा हुआ था, जिसकी जांच सीबीआई कर रही है.

सुप्रीम कोर्ट इसे लेकर कई बार बिहार सरकार को कड़ी फटकार लगाने के बाद मामले की सुनवाई दिल्ली में करने का आदेश दिया था. इस मामले का खुलासा होने के बाद बिहार की कल्याण मंत्री मंजू वर्मा को न सिर्फ पद से इस्तीफा देना पड़ा, बल्कि जेल भी जाना पड़ा. मुजफ्फरपुर बालिका गृहकांड का मुख्य आरोपी ब्रजेश ठाकुर पंजाब की जेल में बंद है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *