असम-मिजोरम बॉर्डर पर हिंसक झड़प- उपद्रवियों ने कई घर फूंके, गृह मंत्रालय ने बुलाई बैठक

असम (Assam) के काछार ज़िले के लायलपुर में 2 गुटों में हिंसक झड़प हो गई थी. बताया जा रहा है कि दोनों गुट एक कोरोना टेस्टिंग केंद्र पर आपस में भिड़ गए. जिसके बाद इन समूहों ने कई घरों को आग के हवाले कर दिया.

  • TV9 Hindi
  • Publish Date - 8:05 am, Mon, 19 October 20
Fire
उपद्रवियों ने कई घरों में आग लगाई (सांकेतिक फोटो)

असम-मिजोरम बॉर्डर पर दो गुटों में झड़प के बाद हुई हिंसा के बाद स्थिति नियंत्रण में है, हालांकि अब भी तनाव की स्थिति बनी हुई है. असम के काछार और मिजोरम के कोलासिब ज़िलों में इस हिंसक झड़प के बाद से ही भारी पुलिस बल तैनात कर दिया गया है. असम के मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल ने पीएमओ और केंद्रीय गृहमंत्रालय को इस हिंसक झड़प की जानकारी दी है.

इसके साथ ही मुख्यमंत्री सोनोवाल ने अपने मिजोरम के समकक्ष मुख्यमंत्री ज़ोरमथांगा से भी बॉर्डर पर हिंसा और अन्य मुद्दों को आपसी तालमेल से हल करने की बात कही. वहीं ज़ोरमथांगा ने भी शांति से मुद्दों को हल करने और आपसी सहयोग का आश्वासन दिया है.

ये भी पढ़ें- Bihar Election 2020: ‘सिर्फ सीएम बनना होता तो आत्मसम्मान बेच देता’, तेजस्वी का नीतीश कुमार पर तंज

केंद्र ने बुलाई स्थिति की समीक्षा को लेकर बैठक

स्थिति की समीक्षा के लिए आज दोनों राज्यों के बीच केंद्रीय गृह सचिव अजय कुमार भल्ला की अध्यक्षता में एक बैठक होनी है. मिजोरम के गृह मंत्री लालचामलियाना ने जानकारी देते हुए कहा कि दोनों राज्यों के मुख्य सचिव बैठक में मौजूद रहेंगे.

क्यों हुई हिंसा?

दरअसल असम के काछार ज़िले के लायलपुर में शनिवार को 2 गुटों में हिंसक झड़प हो गई थी. बताया जा रहा है कि दोनों गुट एक कोविड टेस्टिंग केंद्र पर आपस में भिड़ गए. जिसके बाद इन समूहों ने कई घरों को आग के हवाले कर दिया.

इस मामले के बाद दोनों राज्यों की सीमा पर तनाव की स्थिति बनी हुई है, हालांकि असम के वनमंत्री परिमल सुखावैद्य ने इलाके का दौरा किया. साथ ही स्थानीय लोगों से मामले में शांति व्यवस्था बनाए रखने की भी अपील की. वहीं पड़ोसी ज़िलों में भी सुरक्षा व्यवस्था को और कड़ा कर दिया गया है.

ये भी पढ़ें-हाथरस कांड: जातीय हिंसा को लेकर STF कर सकती है जांच! फंडिंग को लेकर ED के रडार पर केस