पश्चिम बंगाल में दो गुटों के बीच जमकर हिंसा: चली लाठियां, फेंके पत्थर, गाड़ियों में तोड़फोड़

ये पूरा मामला शराबियों के बीच हुई बहस को लेकर शुरू हुआ. बातों ही बातों में दो गुट आपस में भिड़ गए और जमकर हिंसा हुई.
West Bengal, पश्चिम बंगाल में दो गुटों के बीच जमकर हिंसा: चली लाठियां, फेंके पत्थर, गाड़ियों में तोड़फोड़


कोलकाता: पश्चिम बंगाल में आसनसोल के दिलदार नगर में बुधवार देर शाम दो गुटों के बीच हिंसक झड़प हुई है. इस दौरान दोनों गुटों की ओर से जमकर पत्थराबाजी की गई. साथ ही आगजनी भी हुई. हिंसा में किसी के मारे जाने की खबर नहीं है लेकिन मकानों-दुकानों को काफी नुकसान पहुंचा है. इलाके का माहौल बेहद तनावपूर्व बना हुआ है. इसे देखते हुए भारी संख्या में सुरक्षा बलों की तैनाती की गई है.

शराबियों की बहस से शुरू हुआ मामला
ये पूरा मामला शराबियों के बीच हुई बहस को लेकर शुरू हुआ. बातों ही बातों में दो गुट आपस में भिड़ गए. संघर्ष में कई गाड़ियों को निशाना बनाया गया. जमकर आगजनी कई गई. एक-दूसरे पर पत्थरबाजी हुई. साथ ही बमबारी करने की भी रिपोर्ट्स मिली हैं. पुलिस को हालात पर काबू पाने के लिए आएएफ की टीम बुलानी पड़ी. आरएफ को आंसू गैस के गोले दागने पड़े. बड़ी मुश्किल से हालात को सामान्य किया जा सका.

TMC कार्यकर्ता की हत्या
दूसरी तरफ, राज्य के कूचबिहार में तृणमूल कांग्रेस के एक 50 वर्षीय कार्यकर्ता की हत्या कर दी गई. बताया जाता है कि ये शख्स ईद की नमाज के बाद बाजार से लौट रहा था. इसी दौरान उसके घर के पास कुछ लोगों ने उसे घेरकर मार डाला. हत्या का आरोप बीजेपी कार्यकर्ताओं पर लगा है. हालांकि पार्टी ने इससे इनकार किया है.

गौरतलब है कि राज्य में लोकसभा चुनाव 2019 के दौरान शुरू हुई हिंसा अभी थमने का नाम नहीं ले रही है. इन ताजा घटनाओं को भी इसी राजनीतिक हिंसा से जोड़कर देखा जा रहा है. बीजेपी नेता दिलीप घोष ने इसके लिए सीएम ममता बनर्जी को जिम्मेदार ठरहाया है.

उन्होंने कहा, “जहां भी हिंसा होती है वहां पर बीजेपी को बदनाम किया जाता है. ये सरकार नाकाम हो चुकी है. ममता बनर्जी का शासन-प्रशासन पर कोई कंट्रोल नहीं है. इसलिए हर जगह खून हो रहा है. बीजेपी का इससे कोई संबंध नहीं है.”

ये भी पढ़ें-

हिंदू हो जम्मू-कश्मीर का अगला CM, गृहमंत्री अमित शाह की तारीफ कर बोली शिवसेना

दिल्ली से बब्बर खालसा का आतंकी गिरफ्तार, ऑपरेशन ब्लू स्टार की बरसी से पहले बड़ी कामयाबी

रोजगार और विकास पर मोदी सरकार का फोकस, जानें नई कैबिनेट समितियों में कौन-कौन शामिल

Related Posts