मिलिए देश के इन तीन ईमानदार सांसदों से, इन्हें चुनाव में हार-जीत से कोई फर्क नहीं पड़ता

TV9 भारतवर्ष के स्टिंग ऑपरेशन में कई ऐसे नेताओं का पर्दाफाश हुआ जो चुनाव में कालेधन का इस्तेमाल करने के लिए बिल्कुल तैयार मिले. इस बीच कुछ ऐसे नेता भी मिले जिन्होंने लोकतंत्र के साथ खिलवाड़ करना गलत समझा.
Operation Bharatvarsh ईमानदार सांसद, मिलिए देश के इन तीन ईमानदार सांसदों से, इन्हें चुनाव में हार-जीत से कोई फर्क नहीं पड़ता

नई दिल्ली: TV9 भारतवर्ष के स्टिंग ऑपरेशन ‘ऑपरेशन भारतवर्ष’ से देश के कई माननीय सांसदों की सच्चाई सामने आ गई है. ये सांसद स्टिंग ऑपरेशन में खुद ही ये बात स्वीकार कर रहे हैं कि इन्होंने चुनाव जीतने के लिए करोड़ों रुपये फूंक डाले. इन्होंने चुनाव में जमकर कालेधन का इस्तेमाल किया. साथ ही ये सांसद चुनाव में करोड़ों में कालाधन लेने के लिए भी एकदम तैयार मिले.

इस बीच हमारे स्टिंग ऑपरेशन में कुछ ऐसे सांसद भी सामने आए जो पूरी तरह से पाक-साफ निकले. इन सांसदों ने चुनाव के लिए किसी भी तरह का कालाधन लेने से इनकार कर दिया.

‘ऑपरेशन भारतवर्ष’ के ये हैं तीन पाक-साफ सांसद-
1. चरणजीत सिंह रोड़ी (सिरसा से INLD सांसद)
2. डॉ. धर्मवीर गांधी (पटियाला से आम आदमी सांसद)
3. सदाशिव लोखंड़े (शिरडी से शिवसेना सांसद)

‘ना पैसे लूंगा, ना दूंगा’
सांसद चरणजीत सिंह रोड़ी ने हमारे अंडरकवर रिपोर्टर से कहा कि ‘ना पैसे लूंगा, ना दूंगा’. उन्होंने कहा कि ‘बिना रुपये लिए मदद करेंगे’.

‘सिर्फ चुनाव जीतना मकसद नहीं’
आप सासंद धर्मवीर गांधी ने हमारे अंडरकवर रिपोर्टर से कहा कि हम निवेश के लिए ईमानदार कोशिशें करेंगे. उन्होंने यह स्पष्ट तौर पर कहा कि सिर्फ चुनाव जीतना ही हमारा मकसद नहीं है.

‘अस्पताल के लिए आर्थिक मदद कीजिए’
शिवसेना सांसद सदाशिव लोखंडे ने खुलासा किया कि उन्होंने पार्टी के लिए 7 करोड़ रुपये खर्च किए. सदाशिव ने हमारे अंडरकवर रिपोर्टर से बातचीत करते हुए अस्पताल का जिक्र किया. उन्होंने कहा कि ‘अस्पताल के लिए आर्थिक मदद कीजिए’.

गौरतलब है कि टीवी9 भारतवर्ष के स्टिंग ऑपरेशन में कई ऐसे नेताओं का पर्दाफाश हुआ जो चुनाव में कालेधन का इस्तेमाल करने के लिए बिल्कुल तैयार मिले. जन अधिकार पार्टी लोकतांत्रिक सांसद पप्पू यादव, आम आदमी पार्टी सांसद साधू सिंह, भारतीय जनता पार्टी सांसद उदित राज, समाजवादी पार्टी सांसद नागेंद्र प्रताप सिंह, लोक जनशक्ति पार्टी सांसद रामचंद्र पासवान और कांग्रेस सांसद एम. के. राघवन जैसे तमाम नेताओं के नाम शामिल हैं.

Related Posts