पश्चिम बंगाल: दुर्गा पूजा के सांस्कृतिक कार्यक्रमों को ममता बनर्जी की हरी झंडी, मानने होंगे ये नियम

ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) ने कहा कि ‘अगर कोविड -19 प्रोटोकॉल (Covid-19 protocol) का पालन किया जाता है तो इन सांस्कृतिक कार्यक्रमों (Cultural Programmes) में 100 लोग शामिल हो सकते हैं और अगर कार्यक्रम का आयोजन किसी बड़ी जगह पर हो रहा हो, तो ऐसे में 200 लोगों को इकट्ठा करने की इजाजत भी दी जा सकती है’.

  • TV9 Hindi
  • Publish Date - 9:07 am, Wed, 14 October 20
पश्चिम बंगाल: दुर्गा पूजा के सांस्कृतिक कार्यक्रमों को ममता बनर्जी की हरी झंडी, मानने होंगे ये नियम

पश्चिम बंगाल (West Bengal) की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Chief Minister Mamata Banerjee) ने मंगलवार को बंगाल के सबसे बड़े त्यौहार दुर्गा पूजा (Durga Pooja) के दौरान होने वाले सांस्कृतिक कार्यक्रमों (Cultural Programmes) पर प्रतिबंध लगाने के अपने फैसले को रद्द कर दिया है, ममता बनर्जी ने कहा कि ‘अगर सभी कोविड -19 प्रोटोकॉल (Covid-19 protocol) का पालन किया जाता है तो ऐसे आयोजन खुले स्थानों या बंद हॉल में आयोजित किए जा सकते हैं’.

ममता बनर्जी ने कहा कि ‘अगर कोविड -19 प्रोटोकॉल का पालन किया जाता है तो इन सांस्कृतिक कार्यक्रमों में 100 लोग शामिल हो सकते हैं और अगर कार्यक्रम का आयोजन किसी बड़ी जगह पर हो रहा हो, तो ऐसे में 200 लोगों को इकट्ठा करने की इजाजत भी दी जा सकती है’. ममता ने आगे कहा कि ‘इन कार्यक्रमों का आयोजन पूजा पंडालों के पास नहीं किया जाएगा, क्योंकि ऐसे में पुलिस और पूजा समिति के लिए भीड़ को संभालना मुश्किल हो जाएगा, इसलिए ऐसे सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन पूजा पंडालों से दूर कराया जाए’.

ये भी पढ़ें: मुंबई: दिव्यांगों और कैंसर रोगियों को लोकल ट्रेनों में सफर की मिली इजाजत

कोविड-19 प्रोटोकाल का पालन जरूरी

बैनर्जी ने कहा कि ‘150 लोगों के साथ एक छोटा सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित कराया जा सकता है, हमें इससे कोई समस्या नहीं है, बशर्ते कि कोविड-19 प्रोटोकाल का पालन किया जाए.’ बनर्जी ने लोगों से दुर्गा पूजा के दौरान कोविड-19 प्रोटोकॉल का पालन करने का आग्रह करते हुए कहा कि ‘अपनी सुरक्षा के लिए मास्क पहनें, अपने हाथों को साफ रखें और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें.’

मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने घोषणा की है कि ‘अमेज़ॉन ने हावड़ा जिले के उलुबेरिया औद्योगिक पार्क में एक लॉजिस्टिक हब की स्थापना की है, यहाँ से सीधे पूर्वी और उत्तर-पूर्वी दिशा के लिए काम किया जाएगा’. ममता ने कहा कि ‘इस लॉजिस्टिक हब से कुल 20,050 लोगों को अप्रत्यक्ष रूप से रोजगार मिलेगा, मुझे उम्मीद है कि ज्यादा से ज्यादा लॉजिस्टिक हब यहां आएंगे और निवेश करेंगे.’

ये भी पढ़ें: मदरसों को बंद करेगी असम सरकार, 100 संस्कृत स्कूलों पर भी ताला- नवंबर में जारी होगा नोटिफिकेशन