दलेर मेहंदी के साथ शीला दीक्षित ने मिलाए थे सुर से सुर, फुल एनर्जी के साथ गाया वंदे मातरम्

साल 2013 में शीला दीक्षित का एक वीडियो सामने आया था, जिसने सोशल मीडिया पर काफी सुर्खियां बंटोरी थीं.

नई दिल्ली: दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस की वरिष्ठ नेता शीला दीक्षित के निधन से देश में शोक की लहर है. एक तरफ लोग शीला दीक्षित को श्रद्धांजलि दे रहे हैं तो वहीं दूसरी ओर कई ऐसी बातें साझा कर रहे हैं, जिनसे दिल्ली की पूर्व सीएम की शालीनता को बयां किया जा सके.

इस बीच कई ऐसे किस्से भी सामने आए हैं, जिनके बारे में शायद कम ही लोग जानते हैं. इस दौरान एक वीडियो भी सामने आया है, जिसमें शीला दीक्षित सिंगर दलेर मेहंदी के साथ सुर से सुर मिलाती दिखाई दे रही हैं. यह वीडियो साल 2013 का है, जब दिल्ली सरकार ने दिल्लीवासियों के लिए कॉलोनियों का मालिकाना हक वहां रहने वाले लोगों को दिया था.

उस समय इस वीडियो ने सोशल मीडिया पर काफी सुर्खियां बंटोरी थीं. इस वीडियो में आप देख सकते हैं कि दलेर मेहंदी वंदे मातरम् गा रहे होते हैं, कि तभी वहां शीला दीक्षित पहुंच जाती हैं और बहुत ही एनर्जी के साथ दलेर मेहंदी के साथ वंदे मातरम् गाने लगती है.

शीला दीक्षित का राजनीतिक जीवन

कांग्रेस की कद्दावर नेता रहीं शीला दीक्षित का जन्म 31 मार्च 1938 को पंजाब के कपूरथला में हुआ था. उन्होंने दिल्ली के कॉन्वेंट ऑफ जीसस एंड मैरी स्कूल से पढ़ाई की और फिर दिल्ली यूनिवर्सिटी के मिरांडा हाउस कॉलेज से मास्टर्स ऑफ आर्ट्स की डिग्री हासिल की.

शीला दीक्षित साल 1984 से 1989 तक उत्तर प्रदेश के कन्नौज से सांसद रहीं. बतौर सांसद वह लोकसभा की एस्टिमेट्स कमिटी का हिस्सा भी रहीं.

शीला दीक्षित ने महिलाओं की स्थिति पर संयुक्त राष्ट्र आयोग में 5 साल (1984-1989) तक भारत का प्रतिनिधित्व किया. वह प्रधानमंत्री कार्यालय में 1986 से 1989 तक संसदीय कार्यराज्यमंत्री रहीं.

साल 1998 के लोकसभा चुनावों में शीला दीक्षित को भारतीय जनता पार्टी के लाल बिहारी तिवारी ने पूर्वी दिल्ली क्षेत्र में मात दी. बाद में वह मुख्यमंत्री बनीं.

शीला दीक्षित गोल मार्केट क्षेत्र से 1998 और 2003 से चुनी गईं. इसके बाद 2008 में उन्होंने नई दिल्ली क्षेत्र से चुनाव लड़ा.शीला दीक्षित के दो बच्चे हैं- संदीप दीक्षित और बेटी लतिका सैयद. संदीप दीक्षित कांग्रेस से सांसद रह चुके हैं.

कांग्रेस को उबारने के लिए दोबारा राजनीति में हुई थीं सक्रिय

शीला दीक्षित का कांग्रेस में क्या स्थान था इसका अंदाजा इस बात से भी लगाया जा सकता है कि लोकसभा चुनाव से पहले राज्य में कांग्रेस की हालत बेहतर करने के लिए इन्हें दोबारा से सक्रिय राजीनीति में उतारा गया था.

फिलहाल उनके पास कांग्रेस के दिल्ली अध्यक्ष पद की जिम्मेदारी भी थी.  लोकसभा चुनाव 2019 में वो उत्तर पूर्वी दिल्ली से चुनाव भी लड़ीं थी, लेकिन उन्हें सफलता नहीं मिली.

 

ये भी पढ़ें-     DDLJ थी शीला दीक्षित की फेवरेट फिल्म, इतनी बार देखी कि घरवालों से मिल गई वॉर्निंग

जब रैपर हनी सिंह के गाने पर थिरकने लगी थीं शीला दीक्षित, नहीं देखा होगा ये वीडियो