, भारत में क्राउन प्रिंस की इतनी आवभगत, 100 सेकेंड सोचो?
, भारत में क्राउन प्रिंस की इतनी आवभगत, 100 सेकेंड सोचो?

भारत में क्राउन प्रिंस की इतनी आवभगत, 100 सेकेंड सोचो?

, भारत में क्राउन प्रिंस की इतनी आवभगत, 100 सेकेंड सोचो?

नई दिल्ली : क्या भारत में सऊदी अरब के क्राउन प्रिंस मुहम्मद बिन सलमान को इतनी तवज्जो मिलनी चाहिए थी ? ये सवाल इस वक्त हर भारतीय के ज़ेहन में आ रहा है और उसकी वजह है भारत आने से पहले पाकिस्तान पहुंचे सलमान का रवैया…

एक तरफ़ वो आतंक की पनाहगाह बन चुके पाकिस्तान को 20 बिलियन डॉलर की मदद का भरोसा देते हैं तो दूसरी तरफ़ भारत से शांति पहल की उसकी कोशिशों की तारीफ़ भी करते हैं वो भी तब जबकि उन्हें पता है कि हिंदुस्तान में आतंकवाद का पोषण करने के लिए पाकिस्तान किस तरह दिन-रात जुटा है. उन्हें पता है कि पुलवामा में आतंकी हमले को अंजाम देकर सीआरपीएफ़ के 40 जवानों की शहादत का जिम्मेदार मौलाना मसूद अज़हर किस तरह पाकिस्तान की सरजमीन पर पनप रहा है.

पाकिस्तान में जिस क्राउन प्रिंस को सऊदी अरब में पाकिस्तानियों का ब्रांड अंबैस्डर बताया जाता है, उसे प्रोटोकॉल तोड़कर पीएम मोदी का एयरपोर्ट रिसीव करने जाना क्या ज़रूरी था?

पाकिस्तान में  ऐसे हुई थी मेज़बानी

क्राउन प्रिंस मोहम्‍मद बिन सलमान जब पाकिस्तान पहुंचे तो उनका शानदार स्वागत किया गया, आर्थिक तंगी से जूझ रहे पाकिस्तान ने पैसा पानी की तरह बहाया. क्राउन प्रिंस का विमान जब पाकिस्तानी वायुक्षेत्र में आया तो उसे लड़ाकू विमानों ने एस्कार्ट किया. इसके अलावा संसद भवन पर सलमान की 120 फुट ऊंची तस्वीर लगाई गई और वहां पहुंचने पर उन्हें 21 तोपों की सलामी दी गई. प्रोटोकॉल तोड़ते हुए खुद पाक पीएम इमरान खान मोहम्मद बिन सलमान को पीएम हाउस ले गए.

 

, भारत में क्राउन प्रिंस की इतनी आवभगत, 100 सेकेंड सोचो?
, भारत में क्राउन प्रिंस की इतनी आवभगत, 100 सेकेंड सोचो?

Related Posts

, भारत में क्राउन प्रिंस की इतनी आवभगत, 100 सेकेंड सोचो?
, भारत में क्राउन प्रिंस की इतनी आवभगत, 100 सेकेंड सोचो?