जानें आखिर क्यों भारतीय वायु सेना ने जारी नहीं किया बालाकोट एयर स्ट्राइक का वीडियो?

भारतीय वायु सेना की रणनीति इजरायली एयर-टू-सरफेस क्रिस्टल मेज मिसाइल से लक्ष्यों को मार कर उसका लाइव वीडियो फीड प्राप्त करने की थी.
भारतीय वायुसेना, जानें आखिर क्यों भारतीय वायु सेना ने जारी नहीं किया बालाकोट एयर स्ट्राइक का वीडियो?

नई दिल्ली: बालाकोट में जैश-ए-मोहम्मद के आतंकी ठिकानों पर 26 फरवरी को भारतीय वायु सेना ने एयर स्ट्राइक की थी. भारतीय वायु सेना ने दावा किया था कि भारतीय लड़ाकू विमानों द्वारा गिराए गए बमों ने अपने लक्ष्यों को सटीक रूप से मारा था. वायु सेना की रणनीति थी कि इन हमलों का वीडियो वह हमले के बाद सार्वजनिक कर दुनिया भर को अपनी कार्रवाई का सबूत दे. हालांकि किन्ही कारणों से ये रणनीति सफल नहीं हुई.

दरअसल भारतीय वायु सेना की रणनीति इजरायली एयर-टू-सरफेस क्रिस्टल मेज मिसाइल से लक्ष्यों को मार कर उसका लाइव वीडियो फीड प्राप्त करने की थी. लेकिन हल्के बादलों के कारण स्पाइस 2000 ग्लाइड बमों के साथ क्रिस्टल मेज को लॉन्च नहीं किया गया और वीडियो फीड नहीं मिल सका. एनडीटीवी की रिपोर्ट के मुताबिक इसी के चलते हमले के बाद वीडियो फीड सार्वजनिक करने की भारतीय वायु सेना की रणनीति विफल हो गई.

हालांकि भारतीय वायु सेना ने हाई रिजॉल्यूशन सैटेलाइट से ली गई तस्वीरों के जरिए अपनी सफलता का सबूत जरूर पेश किया था. भारतीय वायु सेना के मुताबिक मिराज 2000 लड़ाकू विमानों से बालाकोट इलाके में पांच स्पाइस 200 ग्लाइड बम गिराए गए थे. जिसमें जैश-ए-मोहम्मद के कई आतंकी ठिकाने तबाह हुए थे.

मालूम हो कि जम्मू कश्मीर के पुलवामा में सीआरपीएफ के काफिले पर हुए आतंकी हमले के बाद भारतीय वायु सेना ने पाकिस्तान में घुस कर एयर स्ट्राइक की थी.

Related Posts