कर्नाटक की खींचतान के बीच विधानसभा में स्पीकर को क्यों याद आ गए पंडित नेहरू?

कर्नाटक विधानसभा में सरकार बनाने-गिराने के घमासान के बीच स्पीकर को नेहरू याद आ गए.. जानिए क्यों..

कर्नाटक में सरकार बनाने और गिराने की जद्दोजहद चल रही है. इसी रस्साकशी को लेकर विधानसभा में चर्चा जारी है. इस दौरान स्पीकर रमेश कुमार ने जोड़तोड़ की राजनीति पर पूर्व पीएम जवाहरलाल नेहरू की बात को याद करते हुए कटाक्ष किया. उन्होंने विश्वास मत प्रस्ताव को लेकर जारी बहर के बीच कहा- एक बार पूर्व पीएम जवाहरलाल नेहरू से किसी ने कहा था कि कांग्रेस के विधायक भगौड़े हो गए हैं और छोड़कर जा रहे हैं. इस पर नेहरू ने कहा था कि असल में ये उस व्यक्ति की ताकत पर निर्भर करता है जो उन्हें ले जा रहा है.

nehru, कर्नाटक की खींचतान के बीच विधानसभा में स्पीकर को क्यों याद आ गए पंडित नेहरू?

रमेश कुमार ने इसके बाद कांग्रेस नेता सिद्धारमैया की ओर इशारा करते हुए कहा कि एक समय आप मज़बूत थे और आपने विधायकों को अपने पाले में खींचने की कोशिश की थी. फिर उन्होंने येदियुरप्पा की तरफ संकेत करके कहा आप हंसें नहीं. पहले आपने भी विधायकों को खींचने का काम किया है.

विधानसभा स्पीकर ने सदन में मौजूद सभी दल के विधायकों को संबोधित करते हुए कहा कि वो किसी भी कीमत पर आज ही वोटिंग कराएंगे. रमेश कुमार ने ये भी कहा कि आज आप चाहें आधी रात तक चर्चा कर सकते हैं लेकिन विश्वासमत के लिए मुझे वोटिंग आज ही करानी है.

nehru, कर्नाटक की खींचतान के बीच विधानसभा में स्पीकर को क्यों याद आ गए पंडित नेहरू?

उनके इस एलान के साथ ही मुख्यमंत्री कुमारस्वामी की मुश्किलें बढ़ गई हैं क्योंकि वो मोहलत मांग रहे थे. बीजेपी ने दावा कर दिया है कि आज कुमारस्वामी सरकार का आखिरी दिन होगा.