अमृतसर केंद्रीय जेल से 3 मोबाइल और डोंगल बरामद, सुरक्षा एजेंसियों की उड़ी नींद

अमृतसर केंद्रीय जेल से बरामद की गई वाईफाई डोंगल और 3 मोबाइल फोन ने सुरक्षा एजेंसियों की नींद उड़ा दी है. आशंका है कि ये मामला भारत-पाक सीमा पर हो रही ड्रोन की गतिविधियों से जुड़ा हो सकता है.

पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी ISI भारत-पाक सीमा पर चल रहे हाई अलर्ट के बावजूद अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रही है.

देहाती पुलिस द्वारा चाइनीज ड्रोन और संचार साधनों सहित गिरफ्तार किए गए भारतीय सेना के नायक और 2 साथियों से जहां पूछताछ की जा रही है, तो वहीं दूसरी तरफ अमृतसर केंद्रीय जेल से बरामद किए गए वाईफाई डोंगल और 3 मोबाइल फोन ने सुरक्षा एजेंसियों की नींद उड़ा दी है. आशंका जताई जा रही है कि ये मामला भारत-पाक सीमा पर हो रही ड्रोन की गतिविधियों से जुड़ा हो सकता है.

दरअसल देहाती पुलिस को इनपुट मिला था, कि जेल में बैठा कालस गांव निवासी बलकार सिंह सीमा पार पाकिस्तान से हथियारों और संचार साधनों की खेप मंगवा रहा है. जिसे वो देश विरोधी गतिविधियों में शामिल अपने साथियों में ऑपरेशन के लिए बांट रहा है.

इस पर एक्शन लेते हुए पुलिस ने बलकार सिंह सहित 2 साथियों को गिरफ्तार कर लिया है. इनके पास से 2 ड्रोन, भारतीय करेंसी, वॉकी टॉकी बरामद की गई है.
इस बात की भी जांच की जा रही है कि कहीं बरामद वाईफाई डोंगल का आतंकी गतिविधियों के लिए इस्तेमाल तो नहीं किया जा रहा है.

बता दें पिछले साल सितम्बर महीने में भी खुफिया एजेंसी की काउंटर इंटेलीजेंस ने खालिस्तान जिंदाबाद फोर्स के आतंकियों को गिरफ्तार किया था जो केंद्रीय जेल से ही अपने ऑपरेशन को हैंडल करते थे. उनके पास से तब भी पुलिस ने ड्रोन, संचार साधन और हथियार बरामद किए थे.

ये भी पढ़ें-   चार घंटे तक नहीं सुनी गई सुरक्षा की गुहार, JNU हिंसा पर दो वार्डेन्स की रिपोर्ट में खुलासा

राष्ट्रपति मेडल ले चुका है कश्मीर में आतंकियों के साथ गिरफ्तार डीएसपी, अफजल गुरु से निकला कनेक्शन