क्या NASA विक्रम लैंडर से जुड़े सवालों का दे सकेगा जवाब?

NASA का लूनर रिनसॉ ऑर्बिटर (LRO) उस जगह से निकलेगा, जहां पर विक्रम लैंडर के उतरने की संभावनाएं थीं.

भारतीय अंतरिक्ष वैज्ञानिक और चंद्रयान-2 के प्रशंसकों को इसी दिन का इंतजार था. अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी NASA ने कुछ उम्मीदें जताई हैं कि वह विक्रम लैंडर से जुड़ी कुछ जानकारी दे सकता है. दरअसल NASA का लूनर रिनसॉ ऑर्बिटर (LRO) उस जगह से निकलेगा, जहां पर विक्रम लैंडर के उतरने की संभावनाएं थीं.

ऐसे में कयास लगाए जा रहे हैं कि NASA जल्द ही भारतीय लैंडर विक्रम से जुड़े सवालों के जवाब दे सकता है. NASA के एक अधिकारी ने न्यूयॉर्क में पिछले दिनों बताया था कि उनका लूनर रिनसॉ ऑर्बिटर अक्टूबर में आज ही के दिन उस जगह से गुजरेगा जहां चंद्रयान-2 के लैंडर के होने की उम्मीद है.

पिछले दिनों अमेरिकी स्पेस एजेंसी ने भी कहा था कि उसका LRO 17 सितंबर को विक्रम लैंडर की लैंडिंग साइट के ऊपर से गुजरा था. जहां से उसने कुछ हाई रेजोल्यूशन तस्वीरें भी ली थीं. हालांकि LRO की कैमरा टीम विक्रम की तस्वीर या उसकी स्थिति को जान पाने में नाकाम रही थी.

तब NASA ने कहा था, “जब वहां की तस्वीर ली गई थी, तब वहां सांझ हो गई थी, जिसके चलते ज्यादातर इलाका परछाई में छिप गया था. संभावनाएं हैं कि विक्रम लैंडर भी इन्ही परछाईयों में छिप गया हो. हालांकि जब LRO अक्टूबर में वहां से गुजरेगा, तब वहां पर्याप्त प्रकाश होगा और हम विक्रम का पता लगा सकेंगे.”

ये भी पढ़ें: भीमा कोरेगांव हिंसा मामले में गौतम नवलखा को मिली गिरफ्तारी से चार सप्ताह की राहत