‘एक तरफ राम मंदिर बन रहा, दूसरी तरफ सीता मैया को जलाया जा रहा’, लोकसभा में गूंजा उन्‍नाव कांड

कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी ने लोकसभा में कहा, “एक तरफ तो भगवान राम का मंदिर बनाया जा रहा है और दूसरी तरफ सीता मैया को जलाया जा रहा है.”

  • TV9.com
  • Publish Date - 12:44 pm, Fri, 6 December 19

उन्‍नाव की रेप पीड़‍िता को जिंदा जलाने की घटना शुक्रवार को संसद में गूंजी. लोकसभा में इसपर चर्चा के दौरान, कांग्रेस के सांसदों ने सदन से वॉकआउट किया.

उनके नेता अधीर रंजन चौधरी ने सदन में कहा, “उन्‍नाव पीड़‍िता 95 फीसदी तक जल गई है, इस देश में क्‍या हो रहा है? एक तरफ तो भगवान राम का मंदिर बनाया जा रहा है और दूसरी तरफ सीता मैया को जलाया जा रहा है. अपराधी इतने बेखौफ क्‍यों हैं?

Winter Session of Lok Sabha, Rajya Sabha News Updates

  • केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा, “कुछ समय पहले, जब एक मंत्री (स्‍मृति ईरानी) बोल रही थीं तो कुछ सांसदों ने जैसा व्‍यवहार किया, हम उसकी निंदा करते हैं. उन्‍हें उनसे माफी मांगनी चाहिए.”
  • केंद्रीय मंत्री स्‍मृति ईरानी ने कहा, “आप (विपक्षी सांसद) आज जो यहां शोर मचा रहे हैं, इसका मतलब है कि आप नहीं चाहते कि एक महिला खड़ी हो और मुद्दों की बात करे. आज तब चुप थे जब पश्चिम बंगाल के पंचायत चुनावों में, बलात्‍कार को राजनीतिक हथियार की तरह इस्‍तेमाल किया गया, आप तब चुप रहे.
  • शिवसेना सांसद अरविंद सावंत ने कहा, “एक कानून बनाने की जरूरत है जिसके जरिए ऐसे मामलों (महिलाओं के खिलाफ अपराध) के सीधे सुप्रीम कोर्ट में सुने जाने की व्‍यवस्‍था हो. अभी प्रक्रिया निचली अदालतों से शुरू होती है और चलती रहती है. मैं आप (स्‍पीकर) से अपील करता हूं कि इस पर चर्चा के लिए समिति बनाएं.
  • कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी बोल रहे हैं.
  • बीजेपी सांसद मीनाक्षी लेखी ने कहा, “हैदराबाद में जो हुआ वो सही हुआ, पुलिस को बंदूके सजाने के लिए नहीं दी गई है. कार्रवाई कानून के तहत की गई है, कुछ लोग अवसरवाद की राजनीति कर रहे हैं.”

  • लोकसभा में उन्‍नाव रेप पीड़‍िता के साथ हुई घटना का मुद्दा उठा. विपक्षी दलों ने चर्चा की मांग की.
  • वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण अंतर्राष्ट्रीय वित्तीय सेवा केंद्र प्राधिकरण विधेयक, 2019 पेश करेंगी. इस बिल के जरिए, भारत में अंतर्राष्ट्रीय वित्तीय सेवा केंद्रों में वित्तीय सेवाओं के बाजार को विकसित करने और विनियमित करने के लिए एक प्राधिकरण की स्थापना का प्रावधान है.
  • लोकसभा में शुक्रवार को दो महत्वपूर्ण बिलों पर चर्चा होगी. गृह मंत्री अमित शाह चर्चा और पारित कराने के लिए शस्त्र (संशोधन) विधेयक, 2019 को आगे बढ़ाएंगे. यह विधेयक शस्त्र अधिनियम, 1959 में संशोधन करता है.

ये भी पढ़ें

उसी जगह…उसी वक्‍त हुआ दरिंदों का ‘हिसाब’, 10 प्‍वॉइंट्स में हैदराबाद एनकाउंटर की पूरी कहानी