32 कश्मीरी लड़कियों की मदद को आगे आया सिख समुदाय, परिवार तक पहुंचाया सही सलामत

पुणे सिख गुरुद्वारा कमेटी ने छात्रों के लिए दिल्ली के लिए फ्लाइट टिकट की व्यवस्था की और उन्हें होस्टल और पीजी से सही सलामत एयरपोर्ट पहुंचाया.

जम्मु-कश्मीर से आर्टिकल 370 हटाए जाने के बाद राज्य में इंटरनेट और लैंडलाइन सेवा पर बैन लगा दिया गया था, जिसके कारण अन्य राज्यों में रह रहे कश्मीरी छात्रों का अपने परिवार से संपर्क टूट गया था. वहीं इन कश्मीरी छात्रों में 32 पुणे की छात्रा भी थीं, जो कि श्रीनगर से 2,300 किलोमीटर दूर अपने परिवार से संपर्क करने की कोशिश में लगी थीं.

इस बीच इन छात्राओं के लिए सिख गुरुद्वारा कमेटी के लोग मदद के लिए सामने आए. पुणे और दिल्ली के गुरुद्वारा कमेटी के सदस्यों ने मुसीबत में फंसे कश्मीरी छात्रों के लिए मदद का हाथ आगे बढ़ाया और उनके परिवार से उन्हें सुरक्षित मिलाने की पूरी व्यवस्था की.

पुणे सिख गुरुद्वारा कमेटी ने छात्रों के लिए दिल्ली के लिए फ्लाइट टिकट की व्यवस्था की और उन्हें होस्टल और पीजी से सही सलामत एयरपोर्ट पहुंचाया. वही दूसरी ओर दिल्ली में गुरुद्वारा के सदस्यों ने छात्रों के लिए दिल्ली से श्रीनगर तक पहुंचने की व्यवस्था की. यात्रा के दौरान छात्रों की सुरक्षा को सुनिश्चित करने के लिए पूरी व्यवस्था की गई थी.

सोशल मीडिया पर एक वीडियो सामने आया है, जिसमें एक कश्मीरी छात्रा अपने परिवार से कई दिनों बाद मिलती नजर आ रही है. वह अपने पिता के गले मिल रही है. वीडियो में छात्रा के पिता बार-बार उन मददगारों का शुक्रिया अदा कर रहें हैं जिन्होंने उनकी बेटी को सही सलामत उनके पास पहुंचाया.

ये भी पढ़ें-    सुप्रीम कोर्ट में आज नहीं होगी सुनवाई, चिदंबरम की मुश्किलें बढ़ी

टीबी से पीड़ित थे बिग बी, 8 साल बाद लगा बीमारी का पता